भारतीय महिला वनडे टीम की कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) का मानना है कि महिला आईपीएल शुरू करने के लिए अब और इंतजार नहीं किया जा सकता और बीसीसीआई को अगले साल तक इसका आयोजन करना ही चाहिए।

ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत में राज ने कहा, “मुझे निजी तौर पर लगता है कि महिलाओं के लिए आईपीएल अगले साल से शुरू हो जाना चाहिए, भले ही ये नियमों में बदलाव के साथ छोटे पैमाने पर हो। जैसे कि पहले सीजन में हमें पुरुषों के आईपीएल के विपरीत टीम में चार की जगह 5-6 विदेशी खिलाड़ी रखने की अनुमति हो।”

महिला क्रिकेट में भारत की सबसे अनुभवी बल्लेबाज राज ने पूर्व भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर के उस बयान का समर्थन किया, जो उन्होंने आईसीसी महिला टी20 विश्व कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की हार के बाद दिया था। पूर्व भारतीय बल्लेबाज का कहना है कि ये महिला आईपीएल शुरू करने का सही समय है क्योंकि इससे भारतीय महिला क्रिकेट को नई प्रतिभाएं मिलेंगी।

राज ने गावस्कर के बयान से सहमति जताई और कहा, “मैं सहमत हूं कि हमारे पास घरेलू क्रिकेट में ज्यादा गहराई नहीं है लेकिन इसका हल पहले से मौजूद फ्रेंचाइजी की टीम बनाना है, भले ही उनमें से पांच या छह प्रक्रिया शुरू करने के लिए उत्सुक हैं क्योंकि किसी पहले बीसीसीआई के पास चार टीमें थीं (महिला टी 20 चैलेंज में]।”

उन्होंने कहा, “आप हमेशा इंतजार नहीं कर सकते, आपको कभी ना कभी तो शुरूआत करनी ही होगी और आखिर में साल दर साल, आप लीग को और बड़ा कर सकते हैं और फिर से चार विदेशी खिलाड़ियों तक ला सकते हैं।”

भारतीय कप्तान ने 16 साल की शेफाली वर्मा का उदाहरण देते हुए इस लीग के महत्व को समझाया। उन्होंने कहा कि टी20 विश्व कप का सबसे बड़ा और सकारात्मक नतीजा शेफाली है और उन्हें वनडे टीम में भी जगह मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा, “उसके वनडे टीम में आने के बारे में सोचना बुरा नहीं है। वो युवा है लेकिन उसे वनडे में मौका ना देने का ये कारण नहीं होना चाहिए।”