Moeen Ali finds it difficult to feel sorry for ‘rude’ Australian Cricketers
Moeen Ali © Getty Images

इंग्लिश ऑलराउंडर मोइन अली बॉल टैंपरिंग मामले में बैन हुए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट से कोई सहानुभूति नहीं रखते हैं। अली का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को उनके आक्रामक रवैया का नतीजा मिला है।

टाइम्स अखबार से बातचीत में अली ने कहा, “आज जितनी टीमों के नाम लें, उनमें से ऑस्ट्रेलिया ऐसी टीम है जिसके खिलाफ मैं खेला हूं और उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं करता हूं। ऐसा इसलिए नहीं क्योंकि वो ऑस्ट्रेलिया टीम है और वो पुराने दुश्मन हैं लेकिन जिस तरह से वो लगातार लोगों और खिलाड़ियों का अपमान करते हैं।”

पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान गेंद से छेड़छाड़ के चलते ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान स्मिथ, उप कप्तान वार्नर और सलामी बल्लेबाज बैनक्रॉफ्ट पर बैन लगाया गया। तीनों खिलाड़ियों को फैंस की मिली जुली प्रतिक्रिया मिली। कुछ लोगों को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का ये फैसला सही लगा तो कई लोगों के लिए ये ज्यादा ही सख्त था। हालांकि अली ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों के लिए दुख महसूस नहीं करते हैं।

मोइन अली ने आगे कहा, “मैं ऐसा इंसान हूं जो किसी के साथ कुछ बुरा होने पर उनके लिए दुखी होता हूं लेकिन उनके लिए दुखी होना मुश्किल है। 2015 विश्व कप से पहले सिडनी में मैने उनके खिलाफ अपना सबसे पहला मैच खेला था। वो केवल आपको उकसा नहीं रहे थे बल्कि आपके खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे थे। वो पहला मौका था जब मुझे ये एहसास हुआ। मैने उन्हें छूट दे दी लेकिन जैसे जैसे मैं उनके खिलाफ और मैच खेलता गया वो उतने ही बुरे रहे जैसे कि 2015 एशेज में थे, उससे भी कहीं ज्यादा बुरे। भड़काने वाले नहीं बल्कि बिल्कुल अशिष्ट।”