Moeen Ali: I definitely feel that England can still win Ashes 2017-18 without Ben Stokes
मोइन अली© Getty Images
मोइन अली© Getty Images
मोइन अली© Getty Images

इंग्लैंड के बल्लेबाज मोइन अली का कहना है कि उनकी टीम ऑलराउंडर खिलाड़ी बेन स्टोक्स के बिना भी एशेज सीरीज जीत सकती है। बता दें कि स्टोक्स को सड़क पर झगड़ा करने के लिए पुलिस हिरासत में लिया गया था। हालांकि बाद में स्टोक्स को रिहा कर दिया गया था लेकिन मामले की जांच अब भी जारी है। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने स्टोक्स को टीम से निलंबित कर दिया है। ऐसे में स्टोक्स का एशेज के लिए ऑस्ट्रेलिया जाना तय नहीं है। गौरतलब है कि इस घटना के कुछ ही दिन बाद एशेज जाने वाले इंग्लैंड टीम का ऐलान किया गया जिसमें स्टोक्स को उप-कप्तान बनाया गया था।

इस बारे में बात करते हुए मोइन अली ने कहा, “हम सब जानते हैं कि वह कितना अच्छा क्रिकेटर हैं और उसके आने से टीम की ताकत कितनी बढ़ जाती है। वह हमारे अहम खिलाड़ियों में से एक है इसलिए एशेज के लिए उसका टीम में होना अच्छा रहेगा लेकिन हमें देखना होगा कि आगे क्या होता है। अगर वह नहीं आता है तो भी हम अच्छा खेलेंगे इसलिए मुझे लगता है कि हम उसके बिना भी जीत सकते हैं।” अली को इंग्लैंड बनाम वेस्टइंडीज सीरीज में मैन ऑफ द सीरीज का खिताब दिया गया था। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में केवल 53 रनों पर इंग्लैंड की ओर से वनडे का दूसरा सबसे तेज शतक जड़ा था। [ये भी पढ़ें: श्रीलंका क्रिकेट को सुधारेंगे कुमार संगाकारा-महेला जयवर्धने]

अली ने कहा, “मेरा मानना है कि जब आप सेट हो जाते हैं तो ये पिच बल्लेबाजी के लिए सही बन जाती है। गेंद उतना घूमती नहीं है। ये अच्छा रहा कि मैं जिस भी स्थान पर खेलने आया मुझे खुलकर खेलने का मौका मिला और मैने हर बार अपने खेलने के तरीके में बदलाव किया।” इंग्लैंड ने भले ही साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज जीती हो लेकिन एशेज से पहले उन्हें कई सवालों के जवाब ढूंढने हैं। इंग्लैंड टीम ने पिछले मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद भी जेम्स विंस और गैरी बैलेंस को टीम में जगह दी है। वहीं स्टोक्स की गैर मौजूदगी में मोइन अली को बल्लेबाजी में ऊपर भेजा जा सकता है। [ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के साथ सीरीज ना खेलने के लिए बीसीसीआई को देने होंगे 7 मिलियन डॉलर]

आमतौर पर नंबर आठ पर बल्लेबाजी करने वाले अली ने इस बारे में कहा, “आठ नंबर ऐसी जगह है जहां खेलने में मुझे कोई तकलीफ नहीं है लेकिन अगर मुझे सातवें स्थान पर बल्लेबाजी करने के लिए कहा जाता है तो मैं वो भी कर सकता हूं। उम्मीद है कि मैं उनके गेंदबाजों के खिलाफ और उनकी टीम के खिलाफ खेल सकूं।” बाकी खिलाड़ियों की तरह अली भी ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के लिए बेताब हैं। अली ने कहा, “सच कहूं तो मैं इंतजार नहीं कर सकता, मैं बहुत ज्यादा उत्साहित हूं। ये ऐसा है कि जब आप युवा काउंटी क्रिकेटर होते हैं और इस तरह के दौरे पर खेलने के बारे में सोचते हैं। मैने कभी नहीं सोचा था कि मैं इस दौरे पर जा पाउंगा इसलिए ये मेरे लिए बड़ी किस्मत की बात है। मुझे उम्मीद है कि हम वहां जाकर अच्छा प्रदर्शन करेंगे और सीरीज जीतेंगे।” इंग्लैंड टीम 28 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया जाएगी, जहां उन्हें 23 नवंबर से पांच मैचों की एशेज टेस्ट सीरीज खेलनी है।