दुनिया के महान तेज गेंदबाज वसीम अकरम (Wasim Akram) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और उसके चयनकर्ताओं को सलाह दी है कि वह युवा तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) को आगामी टी20 वर्ल्ड कप में जरूर टीम में स्थान दे. 29 वर्षीय आमिर ने पिछले साल दिसंबर में अपनी रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया था, इसके चलते पाकिस्तान क्रिकेट में उनके इस फैसले पर खूब हो-हल्ला हुआ था.

हालांकि बाद में इस तेज गेंदबाज ने रिटायरमेंट का अपना फैसला वापस ले लिया. लेकिन यह साफ कर दिया कि जब तक पाकिस्तान क्रिकेट टीम में मौजूदा टीम मैनेजमेंट है. तब तक वह इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी नहीं कर पाएंगे. इस बीच पाकिस्तान की ओर से इंटरनेशनल क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले वसीम अकरम ने टीम मैनेजमेंट को सलाह दी है कि वह इस साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप में इस युवा तेज गेंदबाज को अनदेखा न करे.

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वसीम अकरम ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल से आमिर के मसले पर बात करते हुए कहा, ‘मैं बहुत हैरान हूं क्योंकि आमिर बहुत अनुभवी गेंदबाज है और टी20 क्रिकेट में वह दुनिया के शानदार गेंदबाजों में से एक है. मेरी व्यक्तिगत राय है कि पाकिस्तान की वर्ल्ड कप टीम में उन्हें होना ही चाहिए.’

वसीम अकरम पाकिस्तान के पूर्व कप्तान भी रहे हैं, जिन्होंने लंबे समय तक इस देश की कमान संभाली है. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से आमिर के रिटायरमेंट पर कहा कि यह उनका निजी फैसला था. उनके इस फैसले को अपराध नहीं मानना चाहिए. अकरम ने कहा, ‘दूसरे खिलाड़ियों ने भी ऐसा किया है लेकिन कोई भी उन्हें लेकर बात नहीं करता. तो सिर्फ आमिर ही क्यों? मैं समझता हूं कि अगर वह अन्य फॉर्मेट में खेलने के लिए उपलब्ध हैं तो उन्हें पाकिस्तान के लिए उपलब्ध रहना ही चाहिए.’

बता दें पीएसएल के दूसरे चरण का आयोजन कुछ ही दिनों में यूएई में आयोजित होने जा रहा है. पाकिस्तान की इस टी20 लीग को तब स्थगित करना पड़ा था, जब इस लीग के बायो बबल में कोरोना वायरस की एंट्री हो गई थी. अब एक लंबे ब्रेक के बाद इसे एक बार फिर जैव सुरक्षित बायो बबल में यूएई में आयोजित किया जा रहा है.

पीएसएल में मोहम्मद आमिर कराची किंग्स का हिस्सा हैं, जिसके मुख्य कोच और क्रिकेट निदेशक वसीम अकरम ही हैं. अकरम ने कहा कि पाकिस्तान को आमिर जैसी क्षमता वाले तेज गेंदबाज की जरूरत है. अकरम ने आगे कहा, ‘वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट में आपको ऐसे अनुभवी गेंदबाजों की जरूरत होती है, जो टीम के बाकी युवा गेंदबाजों को सलाह दे सके और उनका मार्गदर्शन कर सके.’