© AFP
© AFP

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले तीन वनडे मैचों के लिए आर अश्विन और रवींद्र जडेजा को टीम में जगह ना मिलने पर पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने सवाल खड़े किए हैं। अजहरुद्दीन ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के खिलाफ अश्विन और जडेजा को आराम क्यों दिया गया है, ये उनकी समझ से परे हैं। अजहरुद्दीन ने टाइम्स ऑफ इंडिया से खास बातचीत में कहा, ‘ये मैं समझ सकता हूं कि अश्विन और जडेजा को श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में आराम दिया गया लेकिन अब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम से भिड़ रही है तो ऐसे में आपके दो सबसे अच्छे स्पिनर टीम में होने चाहिए। आप अपने घर पर मैच खेल रहे हो और यहां कि पिच उनको रास आती है। अश्विन और जडेजा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में मौका मिलना चाहिए था।’

आर अश्विन इस वक्त इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेल रहे हैं और अच्छा प्रदर्शन भी कर रहे हैं। इस पर अजहरुद्दीन ने कहा कि इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन अश्विन को आत्मविश्वास देगा लेकिन टीम इंडिया को ये नहीं भूलना चाहिए कि ऑस्ट्रेलियाई सीरीज भी अहम है। अजहर ने कहा, ‘अश्विन काउंटी में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं जो उनका मनोबल बढ़ाएगा। अगर मैं कप्तान होता तो अश्विन और जडेजा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में जरूर टीम में रखता।’

आर अश्विन और जडेजा का खराब प्रदर्शन

टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए टीम चुनने के बाद कहा था कि अश्विन और जडेजा को आराम दिया गया है लेकिन कहीं ना कहीं इस बयान में सच्चाई नजर नहीं आती। दरअसल अश्विन और जडेजा का पिछले कुछ वक्त से वनडे में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा है, जिसके चलते शायद सेलेक्टर्स उन्हें टीम में ना चुनकर दूसरे खिलाड़ियों को मौका दे रहे हैं। भारत के खिलाफ सीरीज में आईपीएल का अनुभव काम आएगा: जेम्स फॉकनर

रवींद्र जडेजा ने पिछले दो सालों में 15 वनडे खेले हैं और उन्होंने सिर्फ 11 विकेट झटके हैं। उनका गेंदबाजी औसत 67.09 रहा है जो कि बेहद ही खराब है। बल्लेबाजी में भी जडेजा ने कोई दम नहीं दिखा पाए हैं। जडेजा ने 15 मैच में 22.00 के औसत से सिर्फ 110 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर सिर्फ नाबाद 24 रहा है। अश्विन ने भी पिछले दो साल में 12 वनडे में 11 विकेट लिए हैं और उनके बल्ले से सिर्फ 6 की औसत से 18 रन निकले हैं।