Mohammad Nabi: I have decided to leave Test and focus on ODI and T20s
मोहम्मद नबी (IANS)

सालों की कड़ी मेहनत के बाद आईसीसी से टेस्ट टीम का दर्जा पाने के बाद अफगानिस्तान टीम ने बांग्लादेश को उसके घर में हराकर ऐतिहासिक जीत हासिल की। इस जीत के साथ ही अफगान टीम के सीनियर खिलाड़ी मोहम्मद नबी ने टेस्ट फॉर्मेट से संन्यास लेने का फैसला किया है। नबी का कहना है कि वो अफगानिस्तान की टेस्ट पीढ़ी का हिस्सा बनकर बेहद खुश है लेकिन अब उनके लिए समय वनडे और टी20 फॉर्मेट लगाने का है।

ऑलराउंडर खिलाड़ी ने कहा, “मैंने अफगानिस्तान के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने का सपना देखा था। हमने कम समय में कड़ी मेहनत की। 13-14 साल नहीं बल्कि 7-8 सालों में हमने ये लक्ष्य हासिल कर लिया। हमने काफी संघर्ष किया, हमें मानसिक रूप से तैयार होना पड़ा, टीम कॉम्बिनेशन बनाया। हमने इंटर-कॉन्टिनेंटल कप तीन बार खेला और दो बार जीता, जबकि एक बार हम उप विजेता रहे। ये अच्छा नतीजा है और इसी के वजह से आईसीसी ने हमें टेस्ट स्टेटस दिया।”

नबी ने आगे कहा, “मैं अफगानिस्तान की इस (टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली) पीढ़ी का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं। मेरी योजना ये है कि युवा खिलाड़ियों को आगे के मैचों के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि वो हमारा भविष्य हैं। इसी वजह से मैं टेस्ट मैच छोड़कर वनडे और टी20 पर ध्यान देने का फैसला किया है।”

ऐतिहासिक जीत के बाद मोहम्‍मद नबी ने टेस्‍ट क्रिकेट से लिया संन्‍यास

नबी का आखिरी टेस्ट मैच में अफगानिस्तान के लिए बेहद खास रहा। बांग्लागेश के खिलाफ मैच में 224 रन के बड़े अंतर से जीत दर्ज कर अफगान टीम ने नबी को विदाई दी।

इस जीत के बारे में नबी ने कहा, “ये इस फॉर्मेट में हमारी ऐताहासिक जीत है। भारत, आयरलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ हमने केवल तीन ही टेस्ट मैच खेले हैं और दो में जीत हासिल की है। इसका मतलब है कि हमारी घरेलू संचरना मजबूत है। युवा खिलाड़ी जिस तरह से खेल रहे हैं, स्थिति के हिसाब से खुद को ढाल रहे हैं, ये एक शानदार टीम है। शायद युवा खिलाड़ियों के लिए भी इस फॉर्मेट में भविष्य उज्जवल है।”