Mohammad Nabi: My job is to stop run so other bowlers can take wickets
मोहम्मद नबी (BCCI)

सनराइजर्स हैदराबाद के अनुभवी स्पिनर मोहम्मद नबी ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को दिल्ली कैपिटल्स पर पांच विकेट की जीत के बाद कहा कि टीम में उनकी भूमिका रन गति पर अंकुश लगाकर दबाव बनाने वाले गेंदबाज की है।

नबी ने कल शानदार गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 21 रन पर दो विकेट चटकाए, जिससे दिल्ली की टीम आठ विकेट पर 129 रन ही बना सकी। सनराइजर्स हैदराबाद और अफगानिस्तान की टीम में भूमिका पर नबी ने कहा कि वो रन गति पर अंकुश लगाने की कोशिश करते हैं जिससे कि दबाव बने और दूसरे गेंदबाज विकेट हासिल कर सकें।

ये भी पढ़ें: फिरोज शाह कोटला की पिच ने हमें चौंका दिया: रिकी पोंटिंग

नबी ने हैदराबाद की पांच विकेट की जीत के बाद कहा, ‘‘मेरे यही रणनीति रहती है कि राशिद और मुजीब विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं तो मैं रन गति पर अंकुश लगाऊं। राष्ट्रीय टीम में मुझे 10 ओवर के बाद ही गेंद मिलती है इसलिए कोशिश करता हूं कि ज्यादा से ज्यादा डॉट गेंद करूं, इससे टीम को फायदा होगा क्योंकि डॉट गेंद से बल्लेबाज पर दबाव बनेगा और दूसरे छोर से राशिद विकेट लेने में सफल रहेगा। हमारी यही योजना होती है।’’

नबी ने कहा कि मैच के दौरान उन्हें कुछ भी अलग करने की कोशिश नहीं की और अपना स्वाभाविक खेल दिखाया।उन्होंने कहा, ‘‘मैच के दौरान कुछ भी अलग करने की कोशिश नहीं की। अपना स्वाभाविक खेल खेला। बस हालात अलग थे। हम इससे जल्दी सामंजस्य बैठाने में सफल रहे। पिछले मैच में हमने 200 रन के आसपास का स्कोर बनाया था, हम हालात से जितना जल्दी संभव हो सामंजस्य बैठाने की कोशिश करते हैं।’’

ये भी पढ़ें: बैंगलुरू-कोलकाता मुकाबले में अहम साबित होंगे ये खिलाड़ी

अफगानिस्तान टीम के नबी के साथी राशिद खान और मुजीब उर रहमान ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश और इंग्लैंड में टी20 ब्लास्ट में खेल चुके हैं और इस ऑफ स्पिनर ने कहा कि आगामी विश्व कप में ये अनुभवी काफी अहम साबित हो सकता है। नबी ने कहा, ‘‘राशिद खान, मुजीब उर रहमान और मैं आस्ट्रेलिया में बिग बैश लीग में खेल चुके हैं और हालात से सामंजस्य बैठाने में सफल रहे। आपको जल्दी ही हालात से सामंजस्य बैठाना होता है। ऑस्ट्रेलिया में गेंद काफी टर्न नहीं होती लेकिन उछाल मिलता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल भी हम टी20 ब्लास्ट खेले (इंग्लैंड में), इसी वजह से वहां खेले कि विश्व कप का आयोजन वहीं होना है। अच्छी गेंदबाजी भी की और अंदाजा भी लगा कि वहां पिच कैसी होने वाली हैं। इसी अनुभवी से हम विश्व कप में भी अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे। हमारे में जितनी प्रतिभा है हम टीम के लिए उसका 110-120 प्रतिशत देंगे।’’

ये भी पढ़ें:  फिर फ्लॉप हुए रिषभ पंत, दिल्ली-हैदराबाद मैच के अहम फैक्टर

नबी ने हैदराबाद की टीम में खेलने के अधिक मौके नहीं मिलते लेकिन उन्होंने कहा कि वो अपने मौकों के लिए इंतजार करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले तीन साल से एक साथ खेल रहे हैं इसलिए संयोजन खुद ही बन चुका है। हम मौके का इंतजार करते हैं और जब भी मैच में मौका मिलता है तो हम 110 प्रतिशत देते हैं।’’

नबी ने कहा कि एक गेंदबाज के रूप में सफलता हासिल करने के लिए बल्लेबाज का दिमाग पढ़ना काफी अहम है।उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाज के दिमाग को पढ़ना काफी जरूरी होता है। बल्लेबाज क्या कर रहा है ये जानना काफी जरूरी है। अगर बल्लेबाज शॉट खेलने की कोशिश करता है तो आप बार बार एक ही गेंद नहीं फेंकोगे जिसका वो इंतजार कर रहा है।’’

ये भी पढ़ें: बैंगलुरू को पहली जीत की तलाश, सफलता की राह पर लौटना चाहेगी कोलकाता

नबी ने कहा कि वो मैच के दौरान कभी कभी स्टार लेग स्पिनर राशिद को भी सलाह देते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कभी कभी मैच के दौरान आप वैसी वैरिएशन नहीं कर पाते जैसी चाहते हो। कभी कभी आप उतनी एकाग्रता नहीं ला पाते। जब हम राष्ट्रीय टीम या किसी अन्य टीम में एक साथ खेलते हैं तो कभी कभी समझाना पड़ता है कि बल्लेबाज क्या करना चाहता है, आपको कैसा फील्ड रखना चाहिए। अगर आप ज्यादा खाली गेंद फेंकोगे तो बल्लेबाज गलती करेगा। लेकिन अगर आप विकेट के पीछे भागोगे तो आपके खिलाफ रन बनेंगे, इसी बारे में ज्यादा चर्चा होती है।’’

राशिद की तारीफ करते हुए नबी ने कहा, ‘‘राशिद अलग तरह का स्पिनर है वो बाकी लेग स्पिनरों से अलग है वो हवा में तेज हैं और उसकी गुगली आसानी से समझ नहीं आती।’’