Mohammed Hafeez shouldn’t put his corona report in public domain
Mohammad Hafeez @ Twitter

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कहा है कि हरफनमौला खिलाड़ी मोहम्मद हफीज (Mohammed Hafeez) को अपने निजी स्तर पर कराए गए कोरोनावायरस टेस्ट (Coronavirus test) के बारे में ट्विटर पर लिखने के बजाए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) को अलग से बता देना चाहिए था।

पीसीबी द्वारा कराए गए पहले टेस्ट में हफीज पॉजिटिव आए थे लेकिन उन्होंने निजी तौर पर अपने स्तर पर अपना अलग से टेस्ट कराया था जिसमें वह निगेटिव आए थे। इसकी जानकारी हफीज ने ट्विटर पर दी थी। पीसीबी ने शनिवार को बताया कि हफीज उन छह खिलाड़ियों में से हैं जिनका दूसरा टेस्ट निगेटिव आया है।

धोनी ने 2007 से 2013 के बीच अपने गेंदबाजों पर भरोसा करना सीखा : इरफान पठान

अख्तर ने अपने यूटयूब चैनल पर कहा, “पीसीबी ने थोड़ा मिसमैनेजमेंट किया, हमने अचानक से खिलाड़ियों की टेस्टिंग करना शुरू कर दी, अब खिलाड़ी पॉजिटिव आ रहे हैं। कोरोनावायस से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका शायद लाहौर है इसके बाद काराची। मैं कह सकता हूं कि अगर आप लगातार टेस्ट करते रहेंगे तो आपको ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव मामले मिलेंगे।”

ड्रेसिंग रूम को शांत रखने का काम करते हैं धोनी-रोहित : पार्थिव पटेल

“अब जबकि टेस्ट हो चुके हैं, मेरी हफीज को सलाह यह है कि वे दोबारा टेस्ट कराएं, लेकिन उन्हें टेस्ट का परिणाम ट्विटर पर नहीं पोस्ट करना चाहिए था। उन्हें सीधे पीसीबी को यह बात बतानी चाहिए थी। आप बोर्ड से संबंध खराब नहीं कर सकते। इंग्लैंड का दौरा पाकिस्तान के लिए काफी बड़ा है। अगर हमें वहां टेस्ट सीरीज जीतनी है तो हमें वहां अपनी मजबूत टीम भेजनी चाहिए।”

शनिवार को पीसीबी ने बताया था कि फखर जमां, मोहम्मद हसनैन, मोहम्मद रिजवान, शादाब खान और वहाब रियाज के दूसरे टेस्ट निगेटिव आए हैं।