मोहम्मद शमी और विराट कोहली  © Getty Images
मोहम्मद शमी और विराट कोहली © Getty Images

भले ही विराट कोहली की रोटेशन पॉलिसी के कारण मोहम्मद शमी को टीम में जगह न मिल रही हो लेकिन कोहली के इस फैसले से उन्हें कोई गिला शिकवा नहीं है। उन्होंने हाल ही में कोहली की इस नीति का समर्थन भी किया। उन्होंने कहा कि उनके जैसे क्रिकेटर को इससे हर फॉर्मेट में खेलने में मदद मिलती है। शमी ने कहा, “मैं कोहली की रोटेशन पॉलिसी का पूरी तरह से समर्थन करता हूं। यह मेरे जैसे खिलाड़ी को आराम देती है ताकि मैं सिर्फ टेस्ट के लिए ही नहीं बल्कि सभी फॉर्मेट के लिए तैयार हो सकूं।”

श्रीलंका टेस्ट सीरीज के लिए घोषित की गई 16 सदस्यीय टीम में रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा को शामिल किया गया है। गौरतलब है कि पिछली कुछ सीमित ओवर सीरीजों से इन दिग्गजों को टीम में मौका नहीं दिया जा रहा है। यहां तक कि मौजूदा समय में चल रही न्यूजीलैंड सीरीज में भी जडेजा, अश्विन को जगह नहीं दी गई है। श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज अगले महीने से शुरू होगी।

शमी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज मे टीम इंडिया का अंग थे। लेकिन वह बेंगलुरू वनडे में ही खेले थे। इस मैच में उन्हें पूरे 10 ओवर में एक भी विकेट नहीं मिला था। पिछले कुछ समय से टीम इंडिया के टेस्ट फॉर्मेट के नियमित गेंदबाज जहां मोहम्मद शमी और उमेश यादव हो गए हैं। वहीं सीमित ओवर क्रिकेट में बागडोर जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार संभाल रहे हैं।

जानें अंतरराष्ट्रीय टी20 में हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज
जानें अंतरराष्ट्रीय टी20 में हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज

मौजूदा समय में टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में 1-1 से बराबरी पर है। सीरीज का तीसरा और निर्णायक वनडे मैच 29 अक्टूबर को कानपुर में खेला जाएगा।