मोहम्मद शमी  © Getty Images
मोहम्मद शमी © Getty Images

मोहम्मद शमी जो अपने घुटने की चोट से उबर रहे हैं। उन्हें ग्रीन पार्क में टीम इंडिया के साथ जुड़ने के लिए कहा गया है। इस दौरान उनके पुर्नवास पर काम किया जाएगा। शमी दिसंबर के पहले सप्ताह से ही टीम से बाहर चल रहे हैं। वह इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में अपना घुटना चोटिल कर बैठे थे। यह पता चला है कि शमी को टीम इंडिया में शामिल होने के लिए कहा गया है क्योंकि ये आशंकाएं थीं कि उन्हें उनके घर में वे सुविधाएं नहीं मिल रही हैं जिनकी उन्हें जरूरत है। सिलेक्टर्स के चेयरमेन एमएसके प्रसाद ने कहा, “उनके होमटाउन में सुविधाएं उतनी बढ़िया नहीं हैं। इसलिए हमने उन्हें कानपुर में बुलाया है ताकि टीम के फिजियो उनके सुधार पर नजर रख सकें। इस दौरान उन्होंने बताया कि कि शमी टी20 सीरीज में शामिल नहीं होंगे।”

नेशनल क्रिकेट एकेडमी के पास अच्छे फिजियो की सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं क्योंकि पैट्रिक फरहार्ट, जिन्होंने पूरे देश में ट्रेनर्स के लिए मॉडल को बनाया है और ट्रेनर आनंद आजकल टीम इंडिया के साथ हैं और फिजियो रजनीकांत अंडर- 19 टीम के साथ व्यस्त हैं। शमी बंगाल में आयोजित सैय्यद मुश्ताक टी20I के पहले दो मैचों से भी बाहर रहे थे। प्रसाद ने कहा, “वह पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हुए हैं। उन्हें खेलने के लिए कैसे अनुमति दी जा सकती है? हमें उनके साथ बहुत सावधान रहने की जरूरत है।” [ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड पहले टी20 मैच में बरसेंगे रन]

शमी साल 2015 से चोटों से जूझ रहे हैं। और उनकी वापसी के कुछ दिन बाद ही वह फिर से चोटिल हो गए। इंग्लैंड के खिलाफ वह सीमित ओवरों की सीरीज भी नहीं खेल पाए। अगर वह चैंपियंस ट्रॉफी के पहले फिट भी हो जाते हैं तो उनके पास वनडे क्रिकेट खेलने का कोई मौका नहीं होगा। क्योंकि टीम इंडिया को उस बड़े टूर्नामेंटे के पहले कोई भी अन्य टूर्नामेंट नहीं खेलना है। हालांकि, मंगलवार को शमी नेट में धीमे रन अप के साथ गेंदबाजी करते नजर आए थे। प्रसाद ने कहा, “हमें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बड़ी टेस्ट सीरीज खेलनी है। हम उन्हें खेलते हुए देखना चाहते हैं। जैसा कि मैंने पहले बता दिया है, हम टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर ज्यादा समय के लिए रहना चाहते हैं। अगर वह फिट रहते हैं, तो उन्हें आईपीएल में इस बात का पता चल जाएगा कि वह सीमित ओवरों की क्रिकेट में कैसा प्रदर्शन कर रहे हैं।”