राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया (Chetan Sakariya) के पिता कांजीभाई कोरोना (COVID-19) की चपेट में आ गए हैं. उन्हें बिगड़ती तबीयत के बाद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. खिलाड़ियों में कोरोना संक्रमण पाए जाने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया जा चुका है. चेतन भी अपने घर लौट चुके हैं और यहां पहुंचने के बाद वह पिता से मिलने हॉस्पिटल पहुंचे.

चेतन सकारिया के मुताबिक आईपीएल से मिले पैसों से वह पिता का इलाज करवा रहे हैं. चेतन सकारिया ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ” मेरे पिता पिछले सप्ताह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. फ्रेंचाइजी ने मुझे पेमेंट दे दी है. उन पैसों को मैंने घर भेजा, ताकि पिता का इलाज हो सके. अगर आईपीएल नहीं होता, तो मैं पैसों की कमी के चलते पिता का इलाज नहीं करवा पाता”

तंगहाली में जीवन बिता चुके चेतन सकारिया ने बताया कि उनके पिता ने पूरी जिंदगी टेंपो चलाया है. फिलहाल वह (चेतन) परिवार में एकमात्र कमाने वाले सदस्य हैं. क्रिकेट ही चेतन की कमाई का एकमात्र जरिया है. अगर आईपीएल नहीं होता, तो वह पिता का इलाज नहीं करा सकते थे.

बता दें कि बीसीसीआई आईपीएल के 14वें सीजन के शेष मुकाबलों को सितंबर में आयोजित करने पर विचार कर रहा है. हालांकि बीसीसीआई की ओर से इस पर कोई अधिकारिक बयान नहीं आया है. क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार, विंडो की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने कहा है कि बीसीसीआई सीजन के बाकी बचे 31 मैचों के लिए सितंबर की विंडो पर तलाश रहा है.

इंग्लिश काउंटी के एक ग्रुप ने इस साल सितंबर में आईपीएल-2021 के बाकी मुकाबलों की मेजबानी करने की पेशकश की है. इन काउंटी टीमों में मिडिलसेक्स, सरे, वारविकशायर और लंकाशायर शामिल हैं. ईएसपीएन क्रिकइन्फो की रिपोर्ट के अनुसार लॉर्ड्स, ओवल, एजबस्टन और ओल्ड ट्रैफर्ड ने ईसीबी को पत्र लिखकर इच्छा जताई है. सितंबर के दूसरे हाफ में दो सप्ताह के भीतर टूर्नामेंट पूरा कराने का प्रस्ताव रखा गया है.