इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में भारत के लिए शानदार टेस्ट डेब्यू करने के बाद अहमदाबाद में अपने घरेलू मैदान पर 10 विकेट हॉल दर्ज करने वाले लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल (Axar Patel) को हरतरफ से तारीफें मिल रही हैं। मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम के पिच क्यूरेटर और पूर्व स्पिन गेंदबाज धीरज परसाना ने कहा कि टर्निंग पिच पर कोई और गेंदबाज अक्षर की तरह सीधी गेंदे नहीं करा सकता है।

भारत के लिए दो टेस्ट मैच खेलने वाले प्रसन्ना ने कहा है कि समय के साथ सीमित ओवरों के क्रिकेट में ढलने और राइट आर्म गेंदबाजी स्टाइल में बदलाव के कारण उन्हें टेस्ट क्रिकेट में काफी मदद मिली है।

उन्होंने कहा, “अक्षर टी20 और वनडे मैचों में खेल रहे हैं। उन्होंने तीनों फॉर्मेट खेले हैं। लेकिन मुझे याद है कि जब वो मोटेरा में ट्रायल के लिए आते थे और गुजरात के लिए जूनियर क्रिकेट खेलते थे तब अच्छी हाइट होने के बावजूद उनके पास एक अच्छा एक्शन था। लेकिन अब वो थोड़ा साइड आर्म के साथ गेंदबाजी कर रहे हैं, जिससे उन्हें मदद मिली है। वो बहुत समझदार गेंदबाज है। अपनी हाइट के कारण वो गेंद को बहुत ज्यादा नहीं फ्लाइट नहीं देते।”

73 साल के प्रसन्ना 1997 से 2018 तक बीसीसीआई के मुख्य क्यूरेटर (वेस्टजोन) और फिर 1982 से 2018 तक अहमदाबाद के मुख्य क्यूरेटर रह चुके हैं। उन्होंने कहा, “अधिकतर गेंदबाज टर्निग ट्रैक पर उनकी तरह सीधी गेंदबाजी नहीं कर सकते। ऑर्म बॉल, जिसे वह अच्छी तरह से गेंदबाजी करते है, बाएं हाथ के स्पिनर का हथियार है। जब आप आर्म-बॉल फेंकते हैं तो आप बल्लेबाज को बैक-फुट पर खेलाते हैं। यह अचानक आता है। इसलिए उनके पास गेंदबाजी या एलबीडब्लू लेने का एक बड़ा मौका है।”

पूर्व पिच क्यूरेटर ने आगे कहा, “मैं बहुत खुश था कि गुजरात से किसी को तो टेस्ट में खेलने का मौका मिला। वह सही समय पर सही जगह पर है। वास्तव में उनका भविष्य बेहद उज्जवल है। अक्षर जानते थे कि वे (इंग्लैंड के खिलाड़ी) स्पिनरों के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं। इसलिए उन्होंने अपनी आर्म बॉल के साथ उन्हें अपनी जाल में फंसाया।”