MPCA officer who blamed sachin tendulkar, vvs laxman caught in obscene case
sachin Tendulkar, VVS Laxman

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) को उस समय बड़ा झटका लगा जब उसके आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता का शादी कराने वाली एक वेबसाइट का दुरुपयोग कर वॉहट्सएप पर एक महिला से अश्लील बातों में संलिप्ता का मेल संघ के सदस्यों के पास आया।

संजीव वही शख्स हैं, जिन्होंने सचिन तेंदुलकर और वीवीएस. लक्ष्मण पर सीएसी का सदस्य रहने के बावजूद आईपीएल फ्रेंचाइजी के साथ जुड़ने को लेकर बीसीसीआई के लोकपाल डी.के. जैन को हितों के टकराव की शिकायत की थी।

पढ़ें:- World Cup Countdown : विश्‍व कप में धोनी का शानदार रिकॉर्ड, जानिए अन्‍य भारतीय कप्‍तानों का सफर

आईएएनएस से पास वो मेल है जो संजीव के खिलाफ आया है जिसमें कहा गया है कि संजीव ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग पहले महिला से संपर्क साधन के लिए किया और फिर अश्लील बातों में शामिल रहा। यहां तक कि शिकायतकर्ता महिला ने इस मुद्दे को उठाया और संजीव की प्रोफाइल को साइट से ब्लॉक करने को कहा।

इस मेल के आने के बाद एमपीसीए के सदस्य राज सिंह चौहान ने सचिव मिलिंद कानमाडिकर को लिखा, “आज मुझे एक पत्र मिला जिसमें कुछ कागजात संलिप्त हैं। यह पत्र संजीव के खिलाफ शिकायत है और यह शिकायत एक महिला ने की है।”

पढ़ें:- राहुल चाहर ने निकाले 8 विकेट, भारत की श्रीलंका पर पारी और 205 रन से बड़ी जीत

उन्होंने कहा, “महिला का कहना है कि यह शख्स एमपीसीए का सदस्य संजीव गुप्ता है। उन्होंने कहा है कि इस संबंध में उन्होंने कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी शिकायत की थी।”

उन्होंने कहा, “यह मामला फरवरी-2019 का है। मैं साथ में वह पत्र संलिप्त कर रहा हूं। आप पत्र में लिखी जानकारी को जांचें और हमें बताएं कि इस तरह के मामलों की एमपीसीए में रिपोर्ट की जा सकती है या नहीं।”

शादी कराने वाली साइट पर जो शिकायत है, उसमें लिखा है, “यह साइट कोई संजीव गुप्ता नाम के शख्स द्वारा उपयोग में ली जा रही है जो इंदौर का रहने वाला है और उसकी आईडी @#@# है। यह इस साइट को अश्लील बातें, इत्यादि जैसी चीजों के लिए उपयोग में ले रहा है। वह महिलाओं को लुभाते हैं और व्हॉट्सएप वीडियो चैट के जरिए अश्लील बातें करते हैं।”

11 फरवरी को एक और शिकायत है, जिसमें कहा गया है कि, “यह शख्स अभी भी इस साइट पर सक्रिय है। उसके खिलाफ क्या कार्रवाई की गई सिवाए उसकी पहचान जानने के अलावा। उसने पहचान पत्र दे भी दिया होगा लेकिन यह भी हो सकता है कि यह शख्स कोई और हो। इस संबंध में तुरंत कार्रवाई की जाए। वह एमपीसीए का सदस्य भी है। हमने ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी इस संबंध में पत्र लिखा था। इस शख्स के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।”

पढ़ें:- ENG vs AFG: जेसन रॉय की तूफानी पारी से इंग्‍लैंड ने दर्ज की नौ विकेट से जीत

शादी कराने वाली इस साइट से मेल के जरिए संपर्क करने की कोशिश की गई लेकिन अभी तक मेल का कोई जबाव नहीं आया है। आईएएनएस द्वारा भेजे गए मेल का शनिवार को जो जबाव आया , वो इस प्रकार था, “हम इस मामले की जांच करेंगे और आपसे मेल/फोन के माध्यम से अगले 48 घंटे में संपर्क करने की कोशिश करेंगे। अगर आप कुछ और जानकारी हमसे साझा करते हैं तो हमारे लिए अच्छा होगा।”

मिलिंद से जब इस संबंध में संपर्क करने की कोशिश की गई तो उन्होंने फोन नहीं उठाया और एक मैसेज से माध्यम से बताया कि वह एक बैठक में व्यस्त हैं।