MS Dhoni ‘changed whole face of Indian cricket’ says Pakistan’s Misbah
पूर्व पाकिस्तानी कप्तान मिसबाह उल हक के साथ महेंद्र सिंह धोनी (File photo)

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कोच मिसबाह उल हक का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय क्रिकेट का पूरा चेहरा बदल दिया। शनिवार को धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद मिसबाह ने ये बयान दिया।

39 साल के माही भारत के सबसे सफल कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 टी20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप, 2013 चैंपियंस ट्रॉफी और टेस्ट मेस भी जीती है।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच के चलते साउथम्पटन में मौजूद मिसबाह ने कहा, “भारतीय क्रिकेट में वो बड़ा नाम है, उसने भारतीय क्रिकेट की अच्छे से सेवा की है। महान खिलाड़ियों में से एक है।”

‘धोनी के संन्यास के बाद नंबर-7 की जर्सी को रिटायर करे BCCI’

पूर्व पाक कप्तान ने कहा, “मेरे हिसाब से जिस तरह से उसने अपना रवैया बदला और खासकर कि भारतीय क्रिकेट के लिए जो कुछ हासिल किया, विश्व कप जीता, चैंपियंस ट्रॉफी जीती, टी20 विश्व कप जीता। उसके पास सारी ट्रॉफियां हैं।”

धोनी को सफल कप्तानी के अलावा दबाव के मैचविनिंग पारियां खेलने के लिए भी जाना जाता है। साल 2011 विश्व कप फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ खेली 91 रनों की पारी आज भी हर भारतीय फैंस के याद में ताजा है।

उनके करियर के बारे में मिसबाह ने कहा, “वो बाहर से एकमद शांत कप्तान था लेकिन अंदर से बेहद आक्रामक खिलाड़ी था। वो ऐसा ‘चतुर’ था कप्तान था, जिस तरह से उन्होंने टीम को संभाला, जिस तरह से उन्होंने टीम को सीनियर खिलाड़ियों से जूनियर खिलाड़ियों तक विकसित किया। उसने टीम का पूरा कल्चर और भारतीय क्रिकेट का चेहरा ही बदल दिया। वो खेल का एक शानदार सेवक है।”

भारतीय क्रिकेट के सबसे प्रभावशाली खिलाड़ी रहे महेंद्र सिंह धोनी : रोहित शर्मा

मिसबाह ने तो यहां तक कह दिया कि धोनी अपने सीनियर कप्तान सौरव गांगुली से भी आगे निकल गए। उन्होंने कहा, “वो उन लोगों में से था जो सौरव के जाने के बाद भारतीय क्रिकेट को आगे ले गए और फिर वहां से भारतीय क्रिकेट के लिए कई कमाल किए। वो बेहद अच्छा इंसान और एक बहुत, बहुत अच्छा कप्तान है।”