एम एस धोनी वर्ल्ड कप जीत के बाद सचिन से गले मिलते हुए
एम एस धोनी वर्ल्ड कप जीत के बाद सचिन से गले मिलते हुए

साल 2011 में टीम इंडिया ने 28 साल बाद वर्ल्ड कप जीता था। भारत ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर इतिहास रचा था। टीम इंडिया को फाइनल जिताने में सबसे अहम भूमिका अदा की थी एम एस धोनी ने, जिन्होंने 5वें नंबर पर उतर नाबाद 91 रनों की पारी खेली थी। एम एस धोनी ने नुवान कुलासेकरा की गेंद पर शानदार छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। टीम इंडिया के वर्ल्ड कप जीतने के साथ ही सभी भारतीय खिलाड़ी मैदान पर उतर आए थे और रो पड़े थे। युवराज सिंह, हरभजन सिंह, गौतम गंभीर, सचिन तेंदुलकर हर कोई रो पड़ा था लेकिन इस जीत के बाद अब ये खुलासा हुआ है कि एम एस धोनी की आंखें भी वर्ल्ड कप जीत के बाद भर आई थी।

पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने अपनी किताब ‘डेमोक्रेसी XI’में इस बात का खुलासा किया है कि एम एस धोनी भी वर्ल्ड कप जीत के बाद रोए थे, जिसे खुद एम एस धोनी ने माना है। एम एस धोनी ने राजदीप सरदेसाई को बताया, ‘हां मैं रोया था, लेकिन कैमरा उसे पकड़ नहीं पाया। मैं बहुत उत्साहित था और अपने जज्बातों को थामे हुए था लेकिन जैसे ही हरभजन सिंह ने मुझे गले लगाया मैं रो पड़ा। मेरी आंखों में जैसे ही आंसू आए मैंने सिर नीचे कर लिया और मुझे कोई रोते हुए नहीं देख सका।’

राजकोट टी20 (प्रिव्यू): टीम इंडिया की निगाहें सीरीज जीत पर
राजकोट टी20 (प्रिव्यू): टीम इंडिया की निगाहें सीरीज जीत पर

मुंबई में खेले गए इस मुकाबले में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी की थी और जयवर्धने के शतक की बदौलत 274 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था। जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही थी। लसिथ मलिंगा ने 31 रनों के अंदर सहवाग और सचिन को पैवेलियन की राह दिखा दी थी। इसके बाद गंभीर और विराट कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 83 रनों की साझेदारी कर भारत को खराब शुरुआत से उबारा। विराट के आउट होने के बाद एम एस धोनी और गौतम गंभीर ने 109 रनों की साझेदारी की। ओपनर गौतम गंभीर ने गजब की पारी खेली लेकिन वो सिर्फ 3 रन से अपना शतक चूक गए। इसके बाद धोनी ने युवराज सिंह के साथ मिलकर 54 रन की साझेदारी कर भारत को वर्ल्ड कप जिता दिया था।