महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images
महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

महेंद्र सिंह धोनी को सबसे अच्छा फिनिशर क्यों कहा जाता है ये किसी से भी छिपा नहीं है। धोनी ने दूसरे वनडे के बाद तीसरे वनडे में एक बार फिर से भारतीय टीम को जीत दिलाई और अपने बल्ले से रन बनाकर टीम के लिए विजयी रन बनाए। इसी के साथ धोनी वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार नॉट आउट रहने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। धोनी वनडे क्रिकेट में कुल 72 बार नॉट आउट रहे हैं।  ये भी पढ़ें: जसप्रीत बुमराह ने कैसे किया रिकॉर्डतोड़ प्रदर्शन, किया बड़ा खुलासा

वहीं लक्ष्य का पीछा करने के दौरान वो 40 बार नॉट आउट रहे हैं और इस दौरान उन्होंने 27 बार अपने बल्ले से रन बनाकर टीम को जीत दिलाई है। वहीं धोनी टी20I में कुल 33 बार नॉट आउट रहे हैं और लक्ष्य का पीछा करने के दौरान वो 12 बार नॉट आउट रहे हैं। उन्होंने खेल के इस फॉर्मेट में 9 बार अपने बल्ले से रन बनाकर टीम को जीत दिलाई है।

टेस्ट में भी धोनी 16 बार नॉट आउट रहे हैं और दूसरी पारी में वो कुल 4 बार नॉट आउट रहे हैं। टेस्ट में उन्होंने 3 बार अपने बल्ले से रन बनाकर टीम को जीत दिलाई है। धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ 61* रनों की पारी खेली। इस पारी में धोनी ने कई बड़े रिकॉर्ड भी बनाए। धोनी अब भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में चौथे नंबर पर आ गए हैं। धोनी से आगे अब सिर्फ सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ हैं। धोनी ने मोहम्मद अजहरुद्दीन को पछाड़कर इस उपलब्धि को अपने नाम किया।

वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में भी धोनी अब चौथे नंबर पर आ गए हैं। सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में धोनी अब सचिन, द्रविड़ और गांगुली से ही पीछे हैं। धोनी के नाम अब 74 बार 50 या इससे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। श्रीलंका के खिलाफ चौथा वनडे धोनी के करियर का 300वां मैच होगा और धोनी अपने 300वें मैच को यादगार बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहेंगे। भारत ने पहले ही श्रीलंका हराकर सीरीज को अपने नाम कर लिया है।