धोनी का मानना है कि साल के अंत तक भारतीय टीम टेस्ट की नंबर एक टीम बन जाएगी © AFP
धोनी का मानना है कि साल के अंत तक भारतीय टीम टेस्ट की नंबर एक टीम बन जाएगी © AFP

वनडे और टी20 टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का मानना है कि विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम इस सीजन के अंत तक टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक की पोजीशन पा लेगी। भारतीय टीम को अभी इस सीजन में कुल 13 टेस्ट मैच न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के खिलाफ खेलना है। धोनी का मानना है कि भारतीय टीम कोहली की कप्तानी में सही रूप ले रही है और भारत के सभी तेज गेंदबाज पूरी तरह फिट हैं और अच्छा प्रदर्शन भी कर रहे हैं। जो कि आने वाले समय में भारतीय टीम के लिए अच्छा संकेत है।

दूसरा टी20 मुकाबला बारिश से रद्द होने के बाद बात करते हुए धोनी ने कहा कि मेरा मानना है कि भारतीय टेस्ट टीम सही दिशा में जा रही है, ऐसा लगता था कि हम टी20 और वनडे में ज्यादा व्यवस्थित थे लेकिन अब हमारी टीम में बल्लेबाजी का अच्छा अनुभव है। अगर आप नोटिस करें तो पिछले ढाई सालों में हम सेम बल्लेबाजों के साथ खेले हैं, ज्यादा से ज्यादा 1 या 2 बदलाव हुए हैं। इससे आपको ज्यादा सीखने को मिलता है, टेस्ट क्रिकेट सबसे शानदार प्रारूप है। [Also Read: अमित मिश्रा और रविचन्द्रन अश्विन की तारीफ में बोले महेन्द्र सिंह धोनी]

धोनी ने आगे कहा कि सबसे महत्वपूर्ण जो कि हमारा प्लस प्वाइंट है कि हमारे सभी तेज गेंदबाज फिट हैं और अब वो जिस तरह की गेंदबाजी कर रहे हैं। हमारे पास 10 विशुद्ध तेज गेंदबाज हैं। अब हमें आगे बहुत से मैच खेलने हैं, इसलिए हम जरूरत पड़ने अपने तेज गेंदबाजों को बदल बदल कर इस्तेमाल कर सकते हैं।

धोनी ने भारतीय टीम के प्रदर्शन पर खुशी जताते हुए कहा कि जहां तक प्रदर्शन का सवाल है, टीम की प्रतिभा और अनुभव ने हालिया समय में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। इस सीजन में 13 टेस्ट मैच खेले जाने हैं और मेरा मानना है कि इस सीजन के अंत तक अगर सबकुछ ठीक रहा तो हम विश्व की नंबर एक टीम बन जाएंगे क्योंकि नंबर एक और नंबर दो टीम में बहुत मामूली अंतर है।