MS Dhoni is among the smartest guys in the game, says Virat Kohli
विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी © AFP

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में आठवीं बार प्लेऑफ में पहुंची चेन्नई सुपर किंग्स फाइनल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ हार गई। इस हार के बाद हमेशा की तरह धोनी एक बार फिर आलोचकों के निशाने पर हैं। हालांकि राष्ट्रीय टीम में उनके कप्तान विराट कोहली धोनी के बचाव में उतरे हैं। कोहली का कहना है कि एक मैच के प्रदर्शन से धोनी का आंकलन नहीं करना चाहिए क्योंकि एमएस क्रिकेट के खेल में मौजूद सबसे चालाक लोगों में से एक हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में भारतीय कप्तान ने कहा, “मैं उनके बारे में क्या कहूं। मेरा करियर उनकी कप्तानी में शुरू हुआ था और पिछले कुछ सालों में जितना करीब से मैंने उन्हें देखा है, शायद ही किसी और ने देखा हो। एमएस के बारे में जो एक बात सबसे अहम है वो ये उनके लिए टीम सबसे पहले है, चाहे कुछ भी हो। इसके साथ, आप उनके अनुभव को देखें जो वो किसी टीम में लाते हैं। विकेट के पीछे उनके किए कुछ डिसमिसल मैच पलटने वाले थे।”

धोनी की आलोचना पर कोहली ने कहा, “ये काफी दुर्भाग्य की बात है। ईमानदारी से कहूं तो लोगों में धैर्य की कमी है। एक खराब दिन और फिर चर्चाएं शुरू हो जाती हैं। लेकिन ये तथ्य है कि एमएस धोनी इस खेल के सबसे चालाक लोगों में से एक है। जैसा की मैंने कहा, वो अमूल्य है। धोनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी का टीम में होना, मुझे अपना काम करने की आजादी देता है।”

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में एक बार फिर प्लेऑफ तक पहुंची चेन्नई पर खिताब से चूकी

ना केवल धोनी बल्कि अपनी कप्तानी में मुंबई को चार आईपीएल खिताब जिताने वाले रोहित शर्मा भी टीम इंडिया के लीडरशिप ग्रुप का हिस्सा हैं और कप्तान कोहली की मदद करते हैं।

इस बारे में विराट ने कहा, “एमएस और रोहित, दोनों ने जिस तरह से आईपीएल में अपनी भूमिका निभाईं है वो उनके बारे में बहुत कुछ बताता है। एमएस विशेष रूप से एक विरासत है। इसलिए दोनों का एक नेतृत्व की भूमिका में रहना टीम के लिए बहुत अच्छा है। इसलिए टीम मैनेजमेंट ने एक रणनीति समूह बनाने का फैसला किया और धोनी-रोहित इसका हिस्सा हैं।”