MS Dhoni reaps benefits of unique wicketkeeping style: Sridhar
महेंद्र सिंह धोनी वनडे में 400 डिसमिसल पूरे कर चुके हैं © AFP

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच आर श्रीधर का मानना है कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की विकेटकीपिंग शैली कभी भी पारंपरिक नहीं रही है लेकिन इसने उन्हें सकारात्मक नतीजे मिले हैं। धोनी कभी भी विकेटकीपिंग अभ्यास सेशन में ज्यादा भाग नहीं लेते लेकिन करीबी स्टंपिंग और रन आउट करने में उन्हें महारथ हासिल है। धोनी ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान अपने 400 वनडे डिसमिसल पूरे किए हैं। बता दें कि धोनी ये उपलब्धि हासिल करने वाले पहले भारतीय हैं।

पोर्ट एलिजाबेथ वनडे: टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करेगी दक्षिण अफ्रीका
पोर्ट एलिजाबेथ वनडे: टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करेगी दक्षिण अफ्रीका

श्रीधर ने कहा, ‘‘धोनी की अपनी शैली है, जो उनके लिए काफी सफल हैं। मुझे लगता है हम उनकी विकेटकीपिंग शैली पर रिसर्च कर सकते हैं और मैं इसे ‘द माही वे’ नाम देना चाहूंगा। उनकी शैली से कई चीजें सीखी जा सकती हैं, इतनी सारी चीजें जिसके बारे में युवा विकेटकीपर सोच भी नहीं सकते हैं। वह अपने तरीके के अनोखे खिलाड़ी हैं जैसा क्रिकेटरों को होना चाहिए।’’

धोनी ने 316 एकदिवसीय में 295 कैच लेने के साथ रिकार्ड 106 स्टंपिंग भी की हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उनके हाथ कमाल के हैं। स्पि