MS Dhoni should have been banned for 2 matches over umpiring outburst says Virender Sehwag
MS Dhoni and Virender Sehwag

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आईपीएल के नियमों का उल्लंघन करने के कारण दो से तीन मैचों का प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए था।

धोनी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण में राजस्थान के खिलाफ खेले गए मैच में अंपायर के फैसले के खिलाफ डगआउट से मैदान पर आ गए थे। इसके कारण धोनी को काफी आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है। धोनी की आधी मैच फीस काट ली गई है।

पढ़ें:- महेंद्र सिंह धोनी-अंपायर विवाद पर बोले सौरव गांगुली: सभी इंसान है

वेबसाइट क्रिकबज ने सहवाग के हवाले से लिखा है, “अगर उन्होंने यह भारतीय टीम के लिए किया होता तो मैं काफी खुश होता। मैंने उन्हें भारतीय टीम की कप्तानी के दिनों में इतने गुस्से में कभी नहीं देखा। मुझे लगता है कि वह चेन्नई को लेकर कुछ ज्यादा ही भावुक हो रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि जब चेन्नई के दो खिलाड़ी मैदान पर थे तब उन्हें मैदान पर नहीं आना चाहिए था। वह दो खिलाड़ी भी नो बॉल को लेकर उतने ही गुस्से में थे जितने धोनी। इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें इसे जाने देना चाहिए था।”

पढ़ें:- हम महेन्द्र सिंह धोनी विवाद से आगे बढ़ गए हैं : हसी

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, “इसके लिए उन पर आईपीएल के नियमों के हिसाब से दो से तीन मैच का प्रतिबंध लगना चाहिए ताकि एक उदाहरण दिया जा सके। उन्हें मैदान से बाहर ही रहना चाहिए था।”

इस मैच के आखिरी ओवर में बेन स्टोक्स द्वारा फेंकी गई फुलटॉस को अंपायर ने पहले नो बॉल दिया था, लेकिन बाद में लेग अंपयार के कारण यह फैसला बदल दिया गया था। इस पर मैदान पर मौजूद चेन्नई के मिशेल सैंटनर और रविंद्र जडेजा अंपायर के फैसले से नाखुश दिखे थे और उन्होंने इसकी शिकायत भी की थी। इसी बीच धोनी मैदान पर आकर अंपायर्स से बहस करने लगे थे।