एविन लुइस (Image courtesy: Getty Images)
एविन लुइस (Image courtesy: Getty Images)

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए चौथे वनडे मैच में वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज एविन लुइस दोहरे शतक से चूक गए। लुइस इंग्लैंड के खिलाफ 176* रनों पर रिटायर हर्ट हो गए। इसके साथ ही वो एम एस धोनी के बड़े रिकॉर्ड को तोड़ने से भी चूक गए। दरअसल, वनडे करियर के पहले 2 शतकों को मिलाकर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड धोनी के नाम है। धोनी ने अपने पहले शतक में 148 रनों की पारी खेली थी और दूसरे शतक में उन्होंने 183 रन बनाए थे। इस लिहाज से धोनी के नाम पहले 2 शतक की मदद से (148+183=331) सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है। लुइस धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ने से सिर्फ 7 रन से चूक गए।

लुइस धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ने के बेहद करीब आ गए थे और जिस तरह से वो बल्लेबाजी कर रहे थे उसे देखकर लग रहा था कि वो आसानी से धोनी के इस रिकॉर्ड को अपने नाम कर लेंगे। लुईस जब 176 रन पर थे तो वो चोटिल गए और उन्हें रिटायर हर्ट होना पड़ा। लुइस के वनडे करियर का ये दूसरा शतक था। इससे पहले लुइस ने पहले शतक के दौरान 148 रनों की पारी खेली थी। लुईस के पहले 2 शतकीय पारियों को जोड़ दिया जाए तो ये आंकड़ा (148+176=324) पहुंच जाता है। ये भी पढ़ें: 100वें वनडे में डेविड वॉर्नर ने ठोका अर्धशतक

साफ है लुइस धोनी के इस रिकॉर्ड को तोड़ने से सिर्फ 7 रन से चूक गए। अगर लुईस रिटायर हर्ट ना होते तो वो निश्चित रूप से धोनी के इस बड़े रिकॉर्ड को अपने नाम कर सकते थे। जब लुइस 176 रनों पर थे तब जेक बॉल की गेंद पर लुइस ने शॉट खेला और गेंद उनके बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर उनके पैर में लग गई, जिसके बाद वो दर्द से कराहने लगे। लुइस को इतनी तेज दर्द हो रहा था कि उन्हें स्ट्रेचर से मैदान के बाहर ले जाना पड़ा। एविन लुइस को चोट 46.2 ओवर में लगी। मतलब जब वो रिटायर्ड हर्ट हुए तो वेस्टइंडीज की पारी की 22 गेंद और बची थी, लुइस जिस तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे थे तो उस लिहाज से वो दोहरे शतक तक आसानी से पहुंच सकते थे।