भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी © AFP
भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी © AFP

भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पास एक से एक बढ़कर गाड़ियां है। लेकिन इस बार उनके इस कार प्रेम ने उनकी दिक्कतें बढ़ा दी है, जी हां धोनी ने पांच साल पहले खरीदी अपनी विदेशी गाड़ी हमर का टैक्स नहीं भरा है। ऐसा कहना है रांची ट्रासपोर्ट डिपार्टमेंट का। जिसके लिए धोनी को पेनाल्टी के साथ टेक्स के बचे पैसे जमा करने होंगे। आपको बता दें कि हमर एक विदेशी एसयूवी गाड़ी है। वैसे इस पूरे मामले में जानकारी ये भी है कि विभाग ने धोनी की हमर गाड़ी को स्कार्पियो गाड़ी बता कर रजिस्ट्रेशन कर दिया था जिस कारण विभाग को तीन लाख से ज्यादा के राजस्व की क्षति हुई। ये भी पढ़ें: चीते की फुर्ती से किया रैना ने रॉस टेलर का शिकार, झूम उठे दर्शक (देखे वीडियो)

आपको बता दें कि विदेशी गाड़ी हमर के लिए सरकार को चार लाख रूपये का राजस्व मिलता लेकिन विभाग के स्कार्पियो लिख देने से सिर्फ 53 हजार रूपये ही मिल पाए। धोनी ने एसयूवी हमर को 2009 में खरीदा था। भारतीय कप्तान धोनी ने गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के लिए रांची ट्रासपोर्ट विभाग को एप्लीकेशन दिया था। ये भी पढ़ें: टी20 विश्व कप में सौम्या सरकार का अद्भुत व अविश्वसनीय कैच (देखे वीडियो )

विभाग ने रजिस्ट्रेशन फॉर्म में गाड़ी की सही कम्पनी का नाम ना लिखते हुए गलत कंपनी का नाम लिख दिया था। इस पूरे मामले में रांची ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के मुखिया ने कहा कि धोनी को बचे हुए पैसे को पूरा भरना होगा और इस पूरी घटना की जाँच होगी।

आपको बता दें कि भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस समय टी20 विश्व कप के मैचों में व्यस्त हैं। टीम इंडिया का दूसरा मुकाबला उसके चिरप्रतिद्वंदी टीम पाकिस्तान से 19 मार्च को कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला जाएगा। गौरतलब है कि भारतीय टीम अपना पहला मैच न्यूजीलैंड से हार चुकी है।