MS Dhoni was batting for two-and-a-half hours in CSK camp: Piyush Chawla
महेंद्र सिंह धोनी (File photo)

इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में महेंद्र सिंह धोनी के मैदान पर वापसी करने के इंतजार कर रहे थे, उन्हें तब गहरा झटका लगा था जब बीसीसीआई ने कोविड-19 महामारी के खतरे को मद्देनजर रखते टूर्नामेंट को रद्द कर दिया था।

आईपीएल 2020 रद्द होने से पहले धोनी चेपॉक में अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ियों के साथ अभ्यास कर रहे थे। धोनी के साथी खिलाड़ियों की मानें तो वो पिछले सीजन के मुकाबले कहीं ज्यादा मेहनत कर रहे थे।

13वें सीजन की नीलामी के दौरान सीएसके स्क्वाड में शामिल हुए पीयूष चावला का भी कुछ यही कहना है। आकाश चोपड़ा के ऑनलाइन चैट शो ‘आकाशवाणी’ में उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो जब कोई इतने लंबे ब्रेक के बाद वापस आता है तो वो अक्सर थोड़ा रस्टी लगता है।”

इशांत शर्मा ने कहा- 2013 के बाद महेंद्र सिंह धोनी को अच्छे से समझ पाया था

चावला ने आगे कहा, “माही भाई रांची में कुछ ना कुछ कर रहे होंगे। क्योंकि इतने लंबे गैप के बाद भी वो रस्टी नहीं लग सरहे थे। वो सीएसके के बैटिंग सेशन में 3-4 गेंद खेलने के बाद बड़े शॉट लगाया करते थे। इस बार वो लंबे सेशन के लिए बल्लेबाजी कर रहे थे। कैंप में कम ही लोग थे, जिनमें ज्यादातर गेंदबाज थे। हर बल्लेबाज दो-ढाई घंटे तक बल्लेबाजी कर रहा था, हर बल्लेबाज 200-250 गेंद खेल रहा था।”

इसी शो के दौरान चावला ने ये भी कहा था कि उन्होंने अब तक जिन कप्तानों के नेतृत्व में खेला है, उनमें से धोनी सर्वश्रेष्ठ हैं। सीएसके ने 13वें सीजन की नीलामी के दौरान स्पिनर चावला को 6.75 करोड़ की बोली लगाकर खरीदा था।