MS Dhoni’s Balidan Badge has nothing to do with Indian Army, says Lieutenant General Matheson
महेंद्र सिंह धोनी (AFP)

महेंद्र सिंह धोनी के आईसीसी विश्व कप के दौरान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच के दौरान ‘बलिदान चिन्ह’ को लेकर उठे विवाद से भारतीय सेना ने खुद को अलग करते हुए इसे इस विकेटकीपर बल्लेबाज का ‘निजी निर्णय’ करार दिया।

जीओसी इन सी साउथ वेस्टर्न कमान लेफ्टिनेंट जनरल चेरिश मैथसन यहां भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) में पासिंग आउट परेड का निरीक्षण करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘अपने दस्तानों पर बलिदान चिन्ह का उपयोग करना धोनी का निजी निर्णय है। इससे सेना का कोई लेना देना नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि आइसीसी इस संबंध में निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। ‘बलिदान’ सेना की पैरोशूट रेजीमेंट की स्पेशल फोर्स का प्रतीक चिन्ह है। धोनी भी 2011 से इस रेजीमेंट में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल हैं और उनके दस्तानों पर ये प्रतीक चिन्ह अंकित है।

BCCI को ICC से लगा तगड़ा झटका, धोनी को दस्‍तानों से हटाना होगा बलिदान चिन्‍ह्र

धोनी के प्रतीक चिन्ह वाले दस्ताने पहनने पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने आपत्ति जताई थी जिसके बाद बीसीसीआई ने क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था से अनुमति देने का आग्रह किया था। आईसीसी ने हालांकि भारतीय बोर्ड की मांग अस्वीकार कर दी।

आईसीसी ने स्पष्ट कर दिया है कि वो ऐसे किसी चिन्ह को पहनने की अनुमति नहीं दे सकता और खिलाड़ी केवल प्रायोजक का लोगो ही इस्तेमाल कर सकते हैं।