MS Dhoni’s poor form a worry for team India
Virat Kohli and MS Dhoni

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की गिनती दुनिया के महान मैच फिनिशर में की जाती है। पिछले कुछ महीनों से धोनी अपने नाम के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी धीमी अर्धशतकीय पारी की काफी आलोचना हुई थी।

भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए पहले मुकाबले में 34 रन से हार का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 289 रन का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में टॉप ऑर्डर की खराब बल्लेबाजी की वजह से भारतीय टीम 9 विकेट पर 254 रन ही बना पाई।

पढ़ें:- दूसरे वनडे में कैसा होगा भारत का प्लेइंग इलेवन, कौन होगा बाहर ?

भारत की तरफ से रोहित शर्मा ने 133 रन बनाए जबकि महेंद्र सिंह धोनी 96 गेंद में 51 की पारी खेली थी। धोनी की धीमी बल्लेबाजी को मैच में भारत के हार की वजह बताई गई। इस पारी के बाद धोनी की काफी आलोचना हुई। बल्लेबाजी के दौरान वह स्ट्राइक रोटेट नहीं कर सके।

सिडनी वनडे में धोनी को पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया था। विकेट थामने में तो वह कामयाब रहे लेकिन रन रेट नहीं बढ़ा पाए। उनकी इस धीमी पारी से बल्लेबाजी क्रम में बदलाव की संभावना बनती है।

पढ़ें:- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ करो या मरो के मुकाबले में उतरेगा भारत

इससे पहले एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ धोनी ने 67 गेंद पर 36 रन की पारी खेली थी। इस पारी के बाद भी उनकी जमकर आलोचना हुई थी। पिछली पांच वनडे पारी में धोनी ने 23, 7, 20, 36 और 8 रन की पारी खेली है। पिछले 15 मैचों में धोनी की यह दूसरी अर्धशतकीय पारी थी। धर्मशाला में 2017 में धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ 87 गेंद पर 65 रन की पारी खेली थी।