भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतने का विश्व रिकॉर्ड शायद की कोई और कप्तान तोड़ सके। ऐसा मानना है पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का।

39 साल के धोनी ने भारत को 2007 में टी20 विश्व कप, 2011 में विश्व कप और 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जिताई है। साथ ही धोनी की अगुवाई में भारत पहली बार आईसीसी टेस्ट रैंकिेंग में नंबर वन बना था।

स्टार स्पोर्ट्स के क्रिकेट कनेक्टेड कार्यक्रम पर गंभीर ने कहा, “अगर आप बात करें, तो जो एक रिकॉर्ड हमेशा ही बरकरार रहने वाला है, वो है एमएस धोनी की तीन आईसीसी ट्रॉफी। मुझे नहीं लगता कोई भी दूसरा कप्तान इस उपलब्धि को हासिल करने में कामयाब हो पाएगा। मुझे लगता है कि चाहे ये टी20 विश्व कप हो, आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी हो या फिर 2011 का विश्व कप। मैं मानता हूं, ये एक ऐसी चीज है जो हमेशा ही बरकरार रहने वाली है।”

गंभीर ने कहा, “मुझे लगता है कि 100 शतक का रिकॉर्ड भले ही आखिर में टूट जाए। कोई ऐसा भी आएगा जो रोहित शर्मा से ज्यादा दोहरा शतक लगा लेगा, लेकिन मुझे नहीं लगता है कि ऐसा कोई भी भारतीय कप्तान होंगे जो आईसीसी के तीन ट्रॉफी को जीतने की उपलब्धि हासिल कर पाएंगे। इसी वजह से एमएस का नाम इस चीज के लिए हमेशा ही बना रहेगा।”

कैप्टन कूल के करियर पर एक नजर:

धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट मैचों की 144 पारियों में 38.09 की औसत से 4,876 रन बनाए। टेस्ट में उनके नाम छह शतक और 33 अर्धशतक दर्ज है और उनका सर्वोच्च स्कोर 224 है।

वहीं, 350 वनडे मैचों की 297 पारियों में उन्होंने 50.57 की औसत से 10.773 रन बनाए हैं। इसमें उनके नाम 10 शतक और 73 अर्धशतक दर्ज हैं। वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 183 हैं।

दुनिया के सबसे सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले धोनी ने 98 टी20 मैचों में 37.60 की औसत से 1617 रन बनाए हैं। इसमें उनके नाम दो अर्धशतक हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 56 हैं।