राहुल ने भारत ए टीम के लिए आईपीएल का अनुबंध छोड़ दिया © Getty Images
राहुल ने भारत ए टीम के लिए आईपीएल का अनुबंध छोड़ दिया © Getty Images

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया जहां लगातार सफलता हासिल कर वहीं भारत ए टीम भी राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में अच्छा प्रदर्शन कर रही है। भारत ए से कई युवा खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय टीम में जगह बनाई है। तिहरा शतक जड़ने वाले करुण नायर हो, भारत के यॉर्कर किंग जसप्रीत बुमराह हो या फिर टीम इंडिया की नई सिक्स मशीन हार्दिक पांड्या सभी को द्रविड़ ने ही तैयार किया है। हाल ही में टीम इंडिया की मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने द्रविड़ की जमकर तारीफ की। प्रसाद ने कहा, “भारत ए के खिलाड़ियों के फॉर्म में आने में राहुल का सौ प्रतिशत योगदान है। हम अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ टीम चुनते हैं लेकिन उसे संवारने का काम राहुल द्रविड़ ही करते हैं। भारतीय ए टीम राहुल द्रविड़ को पाकर काफी भाग्यशाली है। वह सीनियर टीम को पूरी तरह से तैयार खिलाड़ी दे रहे हैं।”

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासनिक समिति द्वारा राष्ट्रीय कोच अनुबंध में किए बदलाव के बाद द्रविड़ आईपीएल या भारत ए और अंडर-19 टीम में से किसी एक के कोच पद पर ही रह सकते थे। ऐसे में द्रविड़ ने राष्ट्रीय टीम को आईपीएल टूर्नामेंट से ज्यादा तरहीज दी। वहीं खबर ये भी थी कि उन्हें विदेशी दौरों पर टीम इंडिया का बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया जाएगा। हालांकि बाद में इस नियुक्त को रद्द कर दिया गया। प्रसाद ने भारत ए की सफलता का श्रेय बीसीसीआई को दिया क्योंकि बोर्ड ने ही राहुल को कोच बनाया है। [ये भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी की ‘उल्टी गिनती’ शुरू, नहीं किया अच्छा प्रदर्शन तो हो जाएंगे बाहर?]

उन्होंने कहा, “पूरा श्रेय बीसीसीआई को जाता है जिन्होंने राहुल को कोच नियुक्त किया और राहुल जिन्होंने ये प्रस्ताव स्वीकार किया। सीनियर टीम का कोच बनाना आकर्षक और ग्लैमरस होता है लेकिन भारत ए की जिम्मेदारी लेना…..। प्रसाद का कहना है कि अधिकतर लोग जूनियर स्तर की टीमों के कोच पद में रुचि नहीं दिखाते हैं लेकिन राहुल ने इस जिम्मेदारी अपनाकर इसे बखूबी निभाया है। [ये भी पढ़ें: जहां खिलाड़ियों पर हुई थी गोलियों की बौछार, वहां खेलने को श्रीलंका फिर तैयार!]

पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने आगे कहा, “उनके जैसे दिग्ग्ज क्रिकेटर का हमारे खिलाड़ियों के साथ काम करना, हमारे खिलाड़ियों का उनके जैसे बेहतरीन इंसान के साथ रहना किसी दुआ से कम नहीं। मुझे पिछले साल उनके साथ समय बिताने का मौका मिला। वह प्रत्येक खिलाड़ी के साथ जितना समय बिताते हैं वह साधारण नेट सेशन से कहीं ज्यादा है। वह हर एक खिलाड़ी के साथ नेट अभ्यास में मौजूद रहते हैं, उन्हें आने वाले मैचों के बारे में बताते हैं और एक सूची तैयार करते हैं। भारत ए टीम के कोच बनने के लिए वह एक अद्भुत शख्सियत हैं।”