भारतीय क्रिकेट टीम ने हाल के वर्षों में कई सफलताएं अर्जित किए हैं. इस दौरान टीम इंडिया की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और कभी-कभी रोहित शर्मा ने भी की. टीम इंडिया के पूर्व चीफ सेलेक्टर एमएस.के प्रसाद ने धोनी, कोहली और रोहित की कप्तानी में अंतर बताया है. ऑनलाइन लाइव वीडियो सेशन में बात करते हुए प्रसाद ने कहा कि तीनों की कप्तानी की शैली अलग है.

‘वनडे और T20 में कोहली से ज्यादा प्रभावशाली हैं रोहित, Dhoni की वजह से ‘हिटमैन’ हुए सफल’

फैनकोड एप पर अपलोड किए गए इंटरव्यू में प्रसाद ने कहा, ‘अगर आप आधार शैली देखेंगे तो कप्तानी की कई अलग-अलग शैलियां होती हैं. यह तीनों अलग तरह के कप्तान हैं. मुझे भरोसा है कि यह तीनों अपने आप में अच्छे हैं.’

प्रसाद ने कहा, ‘ये तीन खिलाड़ी हैं जिनकी अलग-अलग शैली हैं. माही एकदम शांत हैं. जब तक वो अपनी रणनीति को लागू नहीं करते तब तक आप नहीं जानते कि उनके दिमाग में क्या चल रहा है. वे बेहद शांत हैं और सरल हैं जबकि विराट बेहद स्पष्टता रखने वाले कप्तान हैं. वह हमेशा सामने वाले के लिए तैयार रहते हैं. वह अपने दिमाग में काफी साफ हैं कि उन्हें क्या चाहिए.’

उन्होंने कहा, ‘अगर आप रोहित के बारे में बात करेंगे तो वह काफी सरल तरह के कप्तान हैं. दूसरे खिलाड़ियों के लिए सहानुभूति रखते हैं और वह उनके दिमाग से सोचते हैं.’

प्रसाद ने धोनी के भविष्य के बारे में भी बात की और बताया कि उन्होंने धोनी से कुछ समय का ब्रेक लेने को कहा था और इसलिए पंत का समर्थन किया था.

तब ब्रेट ली ने उड़ा दी थी ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा की नींद, अब इस कंगारू पेसर के सामने आने से लगता है डर

बकौल एमएसके, ‘हमारी बात हुई थी और माही ने कहा था कि वह कुछ दिन खेलना नहीं चाहते. इसलिए हम उनसे आगे बढ़े और पंत को चुना और हम उनका साथ दे रहे थे. अब लोकेश राहुल ने न्यूजीलैंड में खेले गए मैचों में काफी अच्छा किया है.’

प्रसाद ने कहा, ‘इसलिए यह अच्छा होगा कि आईपीएल हो और हमें माही की झलक देखने को मिले लेकिन इस समय स्थिति काफी फंसी हुई है.’

गौरतलब है कि कोरोनावायरस के कारण क्रिकेट की सभी गतिविधियां ठप्प है. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें एडिशन को भी अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है.