Mullanpur Cricket Stadium named after King of Patiala late Maharaja Yadvinder Singh
Mullanpur Cricket Stadium Twitter

पंजाब क्रिकेट संघ (PCA) ने मुल्लांपुर में अपने नए स्टेडियम का नाम पूर्ववर्ती पटियाला राज्य के अंतिम राजा स्व. महाराजा यादविंद्र सिंह के नाम पर रखने का फैसला किया है। यादविंद्र 1934 में भारत की ओर से टेस्ट मैच खेले थे। वह पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के पिता हैं।

पीसीए अध्यक्ष राजिंदर गुप्ता और सचिव पुनीत बाली के अलावा संघ के अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। बाली ने कहा, ‘‘इस विचार का प्रस्ताव पीसीए अध्यक्ष ने रखा और इसे स्वीकृति दे दी गई।’’

ब्रेट ली को है विश्‍वास, अनिल कुंबले बदल सकते हैं KXIP की किस्‍मत

पीसीए ने मौजूदा आईएस बिंद्रा स्टेडियम के नवीनीकरण की प्रक्रिया भी शुरू की जिससे कि इसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में परिवर्तित किया जा सके। बाली ने कहा कि नवीनीकरण के बाद यहां मैदान, तरणताल, जिम और अन्य बुनियादी ढांचों की सुविधा उपलब्ध होगी।

मुल्लांपुर में 38.2 एकड़ में बने स्टेडियम की रूपरेखा पूर्व पीसीए अध्यक्ष आईएस बिंद्रा ने तैयार की थी। शीर्ष परिषद की बैठक में जिन अन्य एजेंडा को स्वीकृति दी गई उनमें पीसीए ने अनुबंधित क्रिकेटरों की संख्या 30 से बढ़ाकर 40 करने का फैसला किया जिसमें 10 महिला खिलाड़ी भी शामिल होंगी।

अख्‍तर बोले- मैं सहवाग को पहले ग्राउंड, फिर होटल रूम में जाकर मारता, अगर उसने मुझे…

बाली ने कहा कि बैठक का एक मुख्य एजेंडा छात्रवृत्ति योजना को स्वीकृति देना था। ‘‘जिला विकास योजना को लागू करने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी गई। इस योजना के तहत पंजाब के 18 जिला संघों को विकास का एजेंडा सौंपना होगा और पीसीए की निरीक्षण समिति इस योजना का अध्ययन करेगी।’’

छोटे और बड़े जिलों के अनुदान में इजाफे का भी फैसला किया गया।  ‘‘महामारी के दौरान काम करने वाले कार्याचल कर्मचारियों और मैदानकर्मियों को 40 हजार रुपये का बोनस दिया जाएगा।’’