रोहित शर्मा  © AFP
रोहित शर्मा © AFP

जैसा कि सभी निगाहें इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के फाइनल मैच पर टिकी हुई हैं जो राइजिंग पुणे सुपरजायंट(आरपीएस) और मुंबई इंडियंस के बीच रविवार को हैदराबाद में खेला जाना है। ऐसे में मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा उम्मीद कर रहे हैं कि वह मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपने खराब रिकॉर्ड को पीछे छोड़ना चाहते हैं। दोनों टीमें इस सीजन में कुल तीन बार एक दूसरे से भिड़ी हैं। जिसमें से दो बार ग्रुप स्टेज में और एक बार क्वालीफायर में। लेकिन इन तीनों मौकों पर, मुंबई को हार का स्वाद चखना पड़ा। लेकिन फाइनल में आते हुए रोहित उम्मीद कर रहे हैं कि उनकी टीम इस समीकरण को बदल दे और आईपीएल के 10 सालों में तीसरी बार एक विजेता टीम के रूप में उभरे।

फाइनल मैच की शाम को बातचीत करते हुए रोहित शर्मा ने कहा, “हमारा पुणे के खिलाफ अच्छा इतिहास नहीं है। उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में बेहतरीन क्रिकेट खेली है। यह बात है कि उन दिनों में हमने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। यही कारण रहा कि हम मैच हारे।” राइजिंग पुणे सुपरजायंट के खिलाफ क्वालीफायर एक 20 रनों से हारने के बावजूद मुंबई इंडियंस ने क्वालीफायर दो में बेहतरीन प्रदर्शन किया और कोलकाता नाइट राइडर्स(केकेआर) को 6 विकेट से हराते हुए अपनी फाइनल में जगह पुख्ता की।

रोहित ने आगे कहा, “कल(21 मई), हमें ये निश्चित करना होगा कि हम बेहतर क्रिकेट खेलें और इस बात पर ध्यान केंद्रित करें कि हमें एक टीम के तौर पर क्या करने की जरूरत है। अगर इन चीजों का खयाल किया गया तो परिणाम खुद-ब-खुद हमारे पक्ष में आएगा। आपको प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है बजाय आगे की सोचने की।”[ये भी पढ़ें: काउंटी चैंपियनशिप: एक स्टंप था निशाने पर, फिर भी चेतेश्वर पुजारा ने किया शानदार रन आउट]

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल 2017 के ग्रुप स्टेज में निरंतर जीत दर्ज की और सभी मैचों के बाद वे शीर्ष पर रहे थे। लेकिन नॉकआउट स्टेज को देखते हुए, कुछ मुट्ठीभर वरिष्ठ खिलाड़ी अच्छी क्रिकेट नहीं खेल पाए हैं जिसने उनकी टीम को बड़े मैच में चिंता में डाल दिया है। लेकिन इसके बावजूद, रोहित ने अपनी टीम के खिलाड़ियों पर फाइनल मैच को लेकर भरोसा है। उन्होंने कहा, “टूर्नामेंट में हमारी टीम की ओर से किसी एक खिलाड़ी ने अकेले किला नहीं लड़ाया है। खिलाड़ियों ने विभिन्न मैचों में विभिन्न परिस्थितियों के दौरान जिम्मेदारी अपने कंधे पर ली है। यह बताता है कि टीम वर्क बेहद अहम है, फिर चाहे वो बैटिंग हो या बॉलिंग।”