Mumbai Indians’ plan to promote brand IPL in US shot down by CoA
Mumbai Indians Team@Bcci (file image)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस की अमेरिका में ब्रांड आईपीएल की प्रचार-प्रसार रणनीति पर प्रशासकों की समिति (सीओए) ने ताला जड़ दिया है।

फ्रेंचाइजी की कोशिश फुटबॉल क्लबों की तरह भारत से बाहर खुद को प्रमोट करने की थी। जिस तरह फुटबॉल क्लब सीजन की शुरुआत से पहले एशियाई देशों का प्री-सीजन दौरा करते हैं और खेल को प्रमोट करने के साथ-साथ अपने समर्थकों की फेहरिस्त में भी इजाफा करते हैं, उसी तरह मुंबई इंडियंस की रणनीति थी।

पढ़ें: वकार बोले- तेंदुलकर की उस छोटी-सी पारी को कभी नहीं भूल सकता

इस मामले से जुड़े एक शख्स ने कहा कि सीओए द्वारा आईपीएल के बारे में जागरूकता फैलाने के फैसले पर रोक लगा देना दुर्भाग्यशाली है।

उन्होंने कहा, ‘चूकि मुंबई इंडियंस बीसीसीआई टूर्नामेंट में हिस्सा लेती है इसलिए उन्हें इस तरह के कार्यक्रम के लिए बोर्ड की मंजूरी की जरूरत होती है। मुंबई इंडियंस की कोशिश अमेरिका में आईपीएल और खेल को बढ़ावा देने के साथ खेल के लिए एक नया बाजार तैयार करने की थी। मंजूरी मिल जाती तो टीम वहां जाती और स्थानीय टीमों के साथ कुछ मैच खेलती जिससे उस देश के क्रिकेट के प्यार करने वाले लोग आकर्षित होते और उन्हें अपने पसंदीदा खिलाड़ियों से मिलने का मौका मिलता।’

सूत्र ने कहा, ‘फ्रेंचाइजी इससे होने वाली कमाई को भी साझा करने को तैयार थी। आईपीएल का नियम कहता है कि अगर फ्रेंचाईजी टूर्नामेंट के बाहर कहीं खेलती है तो जो भी कमाई होगी वो साझा की जाएगी। फ्रेंचाइजी को इससे कोई दिक्कत नहीं थी क्योंकि लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा घरों तक खेल को ले जाना और समर्थक तैयार करना था।’

पढ़ें: डेलपोर्ट ने 38 गेंद में ठोका शतक, एसेक्‍स को 52 रन से मिली जीत

उन्होंने कहा, ‘फ्रेंचाइजी ने सीओए से उनके मुताबिक समय देने की मांग भी की थी।’

उनसे जब पूछा गया कि क्या फ्रेंचाइजी का मकसद इससे फायदा कमाना था? तो सूत्र ने कहा, ‘वहां हमारी टिकट बेचने की योजना नहीं थी क्योंकि पता नहीं कि रोहित शर्मा जैसे स्टार खिलाड़ी उस समय खेलेंगे या नहीं क्योंकि उनकी राष्ट्रीय टीम के साथ प्रतिबद्धताएं हैं। लक्ष्य सिर्फ उस इलाके में खेल को बढ़ावा देने का था। फ्रेंचाइजी इसे लेकर काफी गंभीर थी।’

फ्रेंचाइजी ने जब सीओए के पास यह प्रस्ताव भेजा तो सीओए ने इसे नकार दिया।