© IANS
© IANS

मुरली विजय दुनिया के उन बहुत कम टेस्ट ओपनर्स में एक से हैं जो अबतक 11 शतक लगा चुके हैं लेकिन दोहरे शतक से वह अब भी महरूम हैं। टेस्ट क्रिकेट में 167 सर्वोच्च स्कोर रखने वाले विजय के पास दिल्ली टेस्ट में एक बार फिर से मौका था कि वह दोहरा शतक लगा देते और इस सूखे को खत्म करते। वह अच्छे कंट्रोल के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे। लेकिन इसी बीच उनका ध्यान भटका और वह आगे जाकर स्ट्रोक खेलने को गए और इसी जद्दोजहद में वह स्टंप्ड आउट हो गए।

विजय आखिरकार 267 गेंदों में 155 रन बनाकर आउट हुए। विजय के टेस्ट करियर का ये 11वां शतक था। इसके साथ ही वह टेस्ट ओपनरों की उस लिस्ट में शामिल हो गए हैं जिन्होंने 10 या उससे ज्यादा तो शतक लगाए लेकिन कभी दोहरा शतक नहीं लगा सके। इन बल्लेबाजों में मुरली विजय का सर्वोच्च स्कोर भी सबसे कम 167 है। उनसे ऊपर एंड्रयु स्ट्रॉस (20 शतक सर्वोच्च स्कोर 169), डेसमंड हाइन्स (18 शतक सर्वोच्च स्कोर 184), जॉन राइट (12 शतक सर्वोच्च स्कोर 185), और माइक आर्थटन (16 शतक और सर्वोच्च स्कोर 185*) हैं।

विराट कोहली ने तोड़ डाला खुद अपना ही रिकॉर्ड
विराट कोहली ने तोड़ डाला खुद अपना ही रिकॉर्ड

टेस्ट के पहले दिन का खेल पूरी तरह मेजबानों के पक्ष में गया। दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने 4 विकेट खोकर 371 रन बनाए। हालांकि श्रीलंकाई गेंदबाजों ने स्टंप से पहले अजिंक्य रहाणे और मुरली विजय का अहम विकेट निकाला। 155 रनों की धमाकेदारी पारी खेल चुके विजय एक बार फिर दोहरे शतक से चूक गए। दिन के आखिरी ओवर तक कप्तान विराट कोहली 156 रन बनाकर क्रीज पर टिके हुए थे, वहीं दूसरे छोर पर रोहित शर्मा 6 रन बनाकर उनका साथ दे रहे थे। श्रीलंका की ओर से सबसे ज्यादा 2 विकेट लक्षण संदकन ने लिए।