इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने शनिवार को कहा कि बल्ले से उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आना अभी बाकी है। उन्होंने कहा कि वो करियर के दूसरे चरण में और बेहतर करना चाहते हैं। रूट ने डेली मेल से कहा, “निश्चित रूप से मुझे लगता है कि बल्ले से मेरा सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है।”

उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि इस सीजन की शुरूआत की तरह और भी सीरीज हों, और ऐसे बड़े शतक लगाउं जो सीरीज जीतने में मदद कर सके। मैं अपने करियर के अगले चरण को शिखर पर पहुंचाना चाहता हूं।”

रूट की कप्तानी में इंग्लैंड को दो जून से न्यूजीलैंड के साथ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। इसके बाद उसे भारत के साथ चार अगस्त से पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। इंग्लैंड की टीम इसके बाद आठ दिसंबर से एशेज सीरीज के लिए मैदान पर उतरेगी।

रूट ने श्रीलंका और भारत दौरे पर लगातार टेस्ट मैचों में 228, 186 और 218 रनों की पारी खेली थी। उन्होंने कहा कि भारत के हाथों हार के बावजूद इंग्लैंड की टीम ऊपर की ओर बढ़ रही है और टेस्ट टीम के रूप में आगे बढ़ रही है।

कप्तान ने कहा, ” मुझे लगता है कि मैंने पिछले एक साल में काफी अच्छा किया है और अब मैं चीजों को अच्छी तरह से संभाल लेता हूं। जिस तरह से भारत (टेस्ट सीरीज) समाप्त हुआ, उससे मैं निश्चित रूप से निराश था, लेकिन मुझे लगता है कि हम एक टेस्ट टीम के रूप में काफी प्रगति कर रहे हैं।”