My mother made me strong during Australia tour: Mohammed Siraj
Twitter

मोहम्मद सिराज अपनी काबिलियत के दम पर भारतीय क्रिकेट टीम का एक अहम हिस्सा बन चुके हैं। सिराज ने IPL की परफॉर्मेंस के दम पर टीम इंडिया में जगह बनाई थी और उसके बाद अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाकर टीम में अपनी जगह पक्की कर ली। सिराज के करियर में सुनहरा लम्हा 2021 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उस समय आया जब उन्होंने सीरीज के आखिरी मैच में 5 विकेट झटकते हुए टीम इंडिया को 3 विकेट से ऐतिहासिक जीत दिलाई। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज जीतते हुए इतिहास रच दिया। इस सीरीज में सिराज ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए कुल 13 विकेट चटकाए।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब सिराज तरक्की की सीढ़ियां चढ़ रहे थे तो उनके पिता ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। सिराज के लिए ये मुश्किल घड़ी थी लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और टीम इंडिया को जिताकर ही दम लिया। कोरोना के चलते सिराज अपने पिता के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो सके। इस पल को याद करते हुए अब सिराज ने बड़ा बयान दिया है। सिराज ने ‘वूट’पर जल्द आने वाली वेब सीरीज ‘बंदो में था दम’ के ट्रेलर लांच के मौके पर कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खेलते हुए पिता को खोना उनके लिए बहुत ही मुश्किल समय था।

सिराज ने कहा, “मेरे लिए ये मुश्किल वक्त था। IPL के दौरान भी मेरे पिता बीमार चल रहे थे। लेकिन मेरे परिवार ने मुझे ये नहीं बताया कि उनकी हालत गंभीर है। मेरे ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद मुझे उनकी हालत के बारें में पता चला। कोविड -19 प्रोटोकॉल भी था। हमें क्वारंटाइन करना पड़ा। जब हमने अभ्यास किया तो मुझे पिताजी की मृत्यु के बारे में पता चला। उस दौरान मेरी मां ने मुझे काफी ताकत दी। मेरी मां ने मुझे अपने पिता के सपने को पूरा करने और देश को गौरवान्वित करने की बात कही। यही बात मेरे लिए इकलौती प्रेरणा थी। मुझे यह भी नहीं पता था कि मुझे खेलने का मौका मिलेगा या नहीं क्योंकि टीम में सीनियर गेंदबाज मौजूद थे।”

सिराज को पूरी तरह से विश्वास नहीं था कि उन्हें सीनियर गेंदबाजों की मौजूदगी में खेलने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा, “मुझे आखिरकार दूसरे टेस्ट में खेलने का मौका मिला। मैंने जब मेलबर्न में टेस्ट कैप पहना तो सोचा कि यहां पिता को होना चाहिए था। मोहम्मद शमी के चोटिल होने के बाद मुझे भारत के लिए खेलने का मौका मिला।”

भारत ने 2020-21 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहला टेस्ट हारने के बाद शानदार वापसी करते हुए 2-1 से टेस्ट सीरीज अपने नाम की। इस तरह टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज जीतते हुए इतिहास रच दिया। भारत की इस जीत में पंत और सिराज जैसे युवा खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा।