Najam Sethi: Every country wants to play against India to make money
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजम सेठी © AFP

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजम सेठी ने कहा कि सभी टीमें भारत के खिलाफ ज्यादा मैच खेलना चाहती हैं ताकि वे ज्यादा से ज्यादा से पैसा कमा सकें। सेठी ने इस बात को नकार दिया कि बीसीसीआई ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को अपने काबू में रखा है। सेठी ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि हमें काबू या बंधक जैसे शब्द का प्रयोग करना चाहिए। असल बात यह है कि ज्यादातर प्रसारक भारत से हैं, भारत के पास पैसा है। आईसीसी का हर सदस्य भारत के खिलाफ खेलना चाहता है ताकि ज्यादा कमाई कर सकें। इसके साथ ही भारत विश्व की टॉप टीमों में से एक है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत का पक्ष ये है कि वे राजस्व के मामले में आईसीसी को सबसे ज्यादा पैसा देते है ऐसे में उन्हें आईसीसी से भी अधिक राजस्व मिलना चाहिए लेकिन हमारे लिए आईसीसी के सभी सदस्य एक समान हैं।’’ उन्होंने कहा कि एशियाई क्रिकेट परिषद ने अगले साल होने वाले एशिया कप और एशियाई एमरजिंग नेशन कप के वेन्यू के बारे में फैसले को रोक दिया है।

किसी भी 26 साल के खिलाड़ी को हरा सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी: रवि शास्त्री
किसी भी 26 साल के खिलाड़ी को हरा सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी: रवि शास्त्री

सेठी ने कहा, ‘‘एशिया कप और एशिया एमर्जिंग नेशन्स कप टूर्नामेंट ऐसे मुद्दे है जो हमारे सामने काफी लंबे समय से पड़े हैं और देखते है इसमें क्या होता है।’’ बता दें एमर्जिंग नेशन्स कप का आयोजन पहले अप्रैल में पाकिस्तान में होना तय हुआ था। उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान में हमेशा काफी उथल-पुथल रही है और भारत के साथ उसके रिश्तें अच्छे नहीं रहे है।’’ सेठी ने कहा कि यह गलत धारणा है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ खेलने को आतुर है और उन्होंने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान सिर्फ अपने हक की बात कर रहा।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत के खिलाफ खेलने के लिए हमारे झुकने का सवाल ही नहीं है। ये हमारे अधिकारों की बात है। ये 100 से 150 मिलियन अमेरिकी डॉलर के बारे में है और उसे छोड़ना हमारे लिए सहीं नहीं है। पाकिस्तान और भारत के मैच से बड़ा कुछ भी नहीं। हम उनसे सिर्फ कॉन्ट्रेंक्ट में लिखे काम को पूरा करने की मांग कर रहे है और अगर वे ऐसा नहीं कर सकते है तो उन्हें करार पर हस्ताक्षर नहीं करना चाहिए था।’’