इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) इस समय अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं. वह बीते 3 टेस्ट में दो दोहरे शतक समेत कुल तीन शतक जमा चुके हैं. यह तीनों टेस्ट उन्होंने विदेश में एशिया महाद्वीप की धीमी और टर्न पिचों पर जमाए हैं. वह इंग्लैंड की ओर से सर्वाधिक रन बनाने के मामले में तीसरे स्थान पर हैं और उनका टेस्ट औसत 50.33 है, जो इंग्लैंड के किसी भी बल्लेबाज से सबसे ज्यादा है. ऐसे में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन (Nasser Hussain) मानते हैं यह बल्लेबाज बल्लेबाजी के सभी रिकॉर्ड्स ध्वस्त कर सकता है.

नासिर हुसैन ने कहा कि जो रूट स्पिन का सामना करने वाले संभवत: देश के सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं और वह इंग्लैंड के बल्लेबाजों द्वारा बनाए सभी टेस्ट रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. रूट ने चेन्नई में भारत के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट की पहली पारी में 218 रन बनाए, जिससे इंग्लैंड मंगलवार को 227 रन से जीत दर्ज करने में सफल रहा.

हुसैन ने ‘स्काई स्पोर्ट्स’ के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘यह तय है कि रूट इंग्लैंड के महान खिलाड़ियों में से एक हैं. वह संभवत: सभी रिकॉर्ड तोड़ देंगे, वह संभवत: सर एलिस्टेयर कुक के 161 टेस्ट मैचों को पार करेंगे और संभवत: उनके रनों की संख्या को भी.’

उन्होंने लिखा, ‘यह बल्लेबाज बेहतरीन लय में है, वह सिर्फ 30 साल के हैं और अगर आप इंग्लैंड के सर्वकालिक महान बल्लेबाजों की सूची बनाओ (जिन्हें मैंने खेलते हुए देखा है) इस सूची में कुक, ग्राहम गूच और केविन पीटरसन के साथ रूट जरूर होंगे.’ हुसैन ने कहा, ‘मैं कहूंगा कि वह संभवत: स्पिन के खिलाफ इंग्लैंड के सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं. वह जिस तरह स्वीप करते हैं वह देखने में शानदार लगता है.’

हुसैन ने कहा कि भारत के खिलाफ उसी की सरजमीं पर बड़ी जीत ‘परफेक्ट प्रदर्शन’ था और यह इंग्लैंड की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट जीत में से एक होगा. उन्होंने कहा, ‘लोग इंग्लैंड को चुका हुआ मान रहे थे. कह रहे थे कि भारत 4-0 से जीत सकता है. किसी ने भी इस टीम को अधिक मौका नहीं दिया था. भारत ऑस्ट्रेलिया में जीता था, विराट कोहली की टीम में वापसी हुई थी और भारत क्रिकेट खेलने जाने और टेस्ट जीतने के लिए काफी मुश्किल जगह है.’

इस पूर्व कप्तान ने कहा, ‘इसलिए इंग्लैंड की यह जीत शीर्ष पर होनी चाहिए. विशेषकर विदेशी सरजमीं पर. उन्होंने परफेक्ट प्रदर्शन किया. पहली गेंद से अंतिम गेंद तक, यह शानदार था.’ हुसैन मानते हैं कि इंग्लैंड के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ है, जिसने विदेशी सरजमीं पर लगातार 6 मैच जीते हैं.

इनपुट: भाषा