Nasser Hussain: England have to decide where Moeen Ali is confidence-wise
मोइन अली, आदिल राशिद, सकलैन मुश्ताक (IANS)

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले एशेज टेस्ट में इंग्लैंड की हार के बाद पूर्व क्रिकेटर कप्तान नासिर हुसैन ने टीम मैनेजमेंट को ऑलराउंडर मोइन अली को लॉर्ड्स टेस्ट में मौका देने से पहले विचार करने की सलाह दी है। हुसैन का कहना है कि इंग्लैंड टीम से सुनिश्चित करे की अली सही मानसिकता में हैं या नहीं।

स्काई स्पोर्ट्स के अपने कॉलम में उन्होंने लिखा, “मुझे लगता है कि उन्हें मोइन को लेकर फैसला लेना होगा। अगर आप उसके आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले दो-तीन सालों से वो इंग्लैंड के लिए शानदार गेंदबाज रहा है। उन्हें केवल ये फैसला करना होगा कि उसका आत्मविश्वास कैसा है? क्या उसकी मानसिकता में कोई कमी है? क्या जब वो ऑस्ट्रेलिया था में था तो लियोन के खिलाफ रन ना बना पाने की बात उसके दिमाग में बैठ गई है और उसकी गेंदबाजी को प्रभावित कर रहा है? क्या ये मामूली तकनीकी चीजें हैं जिनको लेकर वो सकलेन मुश्ताक के साथ काम कर रहा है? वो मानसिक तौर पर कहां है? क्योंकि खेल तो दिमाग से खेला जाता है।”

‘निश्चित करना होगा कि हम स्टीव स्मिथ के लिए मुश्किलें खड़ी कर पाएं’

पूर्व कप्तान ने अली की जगह जैक लीच को खिलाने का सुझाव भी दिया क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख बल्लेबाज स्टीव स्मिथ बाएं हाथ के स्पिनर के खिलाफ संघर्ष करते हैं। उन्होंने कहा, “साथ ही आंकड़े बताते हैं कि स्मिथ लेफ्ट आर्म स्पिन के खिलाफ थोड़ा खराब है, वो इसका फायदा उठाना चाहेंगे और जैक लीच इंतजार कर रहा है।”

उन्होंने आगे कहा, “ये फैसला उन्हें लेना होगा, इस बात पर नहीं कि मोइन अली अच्छा क्रिकेटर है या नहीं। आप मुझे गलत ना समझें वो शानदार क्रिकेटर और आंकड़ें भी यही दर्शाते हैं।”

अलग स्तर पर है मैथ्यू वेड का खेल: रिकी पॉन्टिंग

हुसैन ने कहा कि इंग्लैंड दूसरे टेस्ट में युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को जरूर मौका देगी। उन्होंने लिखा, “जाहिर है कि आर्चर अगले मैच के लिए इंग्लैंड टीम में आएगा और वो अतिरिक्त गति प्रदान करेगा ताकि उनका पेस अटैक वन-डाइमेंशनल ना लगे।”

दूसरा एशेज टेस्ट 14 अगस्त को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला जाएगा।