Nasser Hussain: England middle-order won the Test series against India
Sam curren with Moeen Ali © Getty Image

साउथम्‍पटन में भारतीय टीम को इंग्‍लैंड से 60 रनों से हार का सामना करना पड़ा। नॉटिंघम में जीत के बाद उम्‍मीद जताई जा रही थी कि भारतीय टीम जीत की लय को बरकरार रखेगी। विराट कोहली इंग्‍लैंड में पिछली दो टेस्‍ट सीरीज हार का हिसाब चुकता करेंगे। भारतीय टीम की खराब बल्‍लेबाजी और इंग्‍लैंड के लिए मोइन अली और सैम कर्रन के शानदार प्रदर्शन ने साउथम्‍पटन में भारत को जीत से दूर रखा।

इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान नासिर हुसैन का मानना है कि ये इंग्‍लैंड के मिडर ऑर्डर की जीत है। स्‍कॉय स्‍पोर्ट्स से बातचीत के दौरान नासिर हुसैन ने कहा, ”मुझे लगता है कि इस सीरीज का निर्णय मिडल ऑर्डर ने ही किया है। पिछले मैचों में बेन स्‍टोक्‍स, जोस बटलर और किस वोक्‍स ने कमाल दिखाया। अब सैम कर्रन और मोइन अली ने शानदार बल्‍लेबाजी कर इंग्‍लैंड को न सिर्फ मुसीबत की घड़ी से बाहर निकाला, बल्कि जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

नासिर हुसैन ने कहा, “दूसरी तरफ भारतीय टीम के मध्‍यक्रम पर नजर डालें तो विराट कोहली के आउट होने के बाद वो पूरी तरह से लड़खड़ा जाता है। हमें जीत से ज्‍यादा उत्‍साहित और हार से निराश होने की जरूरत नहीं है। हम इस तरह की चीजों से गुजरते रहते हैं। हम अपने घर में बेहद अच्‍छे हैं, लेकिन सवाल ये है कि अगर हम ऑस्‍ट्रेलिया में एशेज खेलने जाएंगे तो क्‍या मोइन अली हमारा फ्रंट लाइन गेंदबाज होगा? नहीं होगा। क्‍या क्रिस वोक्‍स हमारा मुख्‍य गेंदबाजी ऑलराउंडर होगा? नहीं होगा।

नासिर हुसैन ने कहा, “सवाल ये भी है कि विदेशों में खेलते वक्‍त क्‍या हमें एक्‍सट्रा पेस और लेफ्ट आर्म गेंदबाज की जरूरत होगी। ये कुछ ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब देना आसान नहीं है। हां ये बात साफ है कि इस देश में, इन कंडीशन में हमें हरा पाना आसान नहीं है।”