neeraj chopra scripts history after becoming first indian to win diamond league
neeraj-chopra

ज्यूरिख: नीरज चोपड़ा ने गुरुवार, 8 सितंबर को इतिहास रच दिया। वह डायमंड ट्रॉफी जीतने वाले पहले भारतीय बन गए। भारत के इस भाला फेंक खिलाड़ी ने पुरुषों के फाइनल में यह उपलब्धि हासिल की। 24 वर्षीय नीरज ने 88.44 मीटर भाला फेंककर स्वर्ण पदक हासिल किया। तोक्यो ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज से यहां भी शानदार प्रदर्शन की उम्मीद थी और वह इस पर खरे उतरे।

नीरज ने चेक रिपब्लिक के जैकब वाडलेज्च और जर्मनी के जूलियन वेबर को पीछे छोड़ा। भारतीय खिलाड़ी ने फाउल के साथ शुरुआत की वहीं वाडलेज्च ने पहले थ्रो में 84.15 मीटर भाला फेंका। हालांकि नीरज ने दूसरे ही थ्रो में 88.44 मीटर भाला फेंका। और पूरे कॉम्पीटिशन में कोई भी इससे आगे नहीं निकल पाया।

अपने तीसरे प्रयास में नीरज ने 88 मीटर भाला फेंका। और चौथे में 86.11 मीटर, पांचवें में 87 और छठे व फाइनल प्रयास में 83.60 मीटर का भाला फेंका। वाडलेज्च 86.94 मीटर के साथ दूसरे स्थान पर रहे।

पूरा हुआ सेट

नीरज ने तोक्यो ओलिंपिक 2020 (2021) में गोल्ड मेडल जीता था। इससे पहले 2018 के एशियन गेम्स और 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीते थे। वहीं 2022 की वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल हासिल किया था। हालांकि, उन्होंने कहा था कि वह डायमंड लीग की अहमियत समझते हैं और चाहते हैं कि वह इसे जीतकर सेट पूरा करें।