विराट कोहली © AFP
विराट कोहली © AFP

विराट कोहली ने अपनी बेहतरीन फॉर्म का एक और सुबूत पेश करते हुए अपने वनडे करियर का 31वां शतक लगा दिया। वह अब सचिन तेंदुलकर के ही पीछे हैं, जिनके नाम वनडे में 49 शतक हैं। कोहली के 121 रनों की बदौलत टीम इंडिया ने 280 का तो स्कोर बनाया लेकिन फिर भी टीम इंडिया हार से अपने आपको नहीं बचा पाई। टॉम लेथम ने अपना चौथा वनडे शतक जमाया और न्यूजीलैंड टीम ने वानखेड़े में 6 विकेट से जीत हासिल कर ली। लेथम 102 गेंदों में 103 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने रॉस टेलर के साथ 200 रनों की साझेदारी की और टीम को जीत की ओर प्रशस्त किया।

इसके पहले अपना 200वां वनडे खेल रहे कोहली ने टीम इंडिया की खराब शुरुआत के बाद दिनेश कार्तिक के साथ 73 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई। कोहली ने अपनी पारी में 7 चौके और 1 छक्का लगाया। गौर करने वाली बात है कि टीम इंडिया पहली बार किसी वनडे मैच में हारी है जब कोहली ने शतक जमाया है।

आकाश चोपड़ा ने लिखा, “रॉस, बॉस हैं… भारतीय सरजमीं पर बेहतरीन वनडे पारी।”

चोपड़ा ने सिलसिलेवार ट्वीट में लिखा, “लेथम की शानदार पारी। स्पिन खेलने में गजब की क्लास दिखाई। एक बराबरी के चेस को एकतरफा मुकाबला बना दिया।”

 

वीवीएस लक्ष्मण ने लिखा, “शानदार रन चेस के लिए बधाई ब्लैककैप्स। लेथम और टेलर के बीच 200 रनों की साझेदारी शानदार रही। आप जीत के हकदार थे।”

हर्षा भोगले ने लिखा, “टेलर और लेथम के बीच हुई बेहतरीन साझेदारी ने चुनौतीपूर्ण स्कोर को आसान बना दिया।”

 

इसके अलावा साल 2013 के बाद यह पहला मौका है जब अपनी सरजमीं पर पहले बल्लेबाजी करने के बाद टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा है। 200 वनडे खेलने के बाद विराट कोहली वनडे के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज बन गए हैं। 200 मैचों के बाद उनके नाम वनडे में सबसे ज्यादा 8,888 रन हैं। साथ ही उनका 55.55 का औसत भी 200 वनडे खेल चुके बाकी सभी खिलाड़ियों से ज्यादा है। विराट कोहली ने 200 वनडे मैचों के बाद कुल 31 शतक लगाए हैं, जो कि सर्वाधिक है।

विराट कोहली ने अपने 31 वनडे शतक तक पहुंचने के लिए केवल 192 पारियों का इस्तेमाल किया है। जबकि सचिन तेंदुलकर ने 271 वनडे पारियों के बाद 31 वनडे शतक पूरे किए थे।