न्यूजीलैंड की टीम- © Getty Images
न्यूजीलैंड की टीम- © Getty Images

क्राइस्टचर्च में खेले गए तीसरे और आखिरी वनडे मैच में न्यूजीलैंड ने वेस्टइंडीज को 66 रनों से मात देकर सीरीज में उसका 3-0 से क्लीन स्वीप कर दिया। बारिश से प्रभावित आखिरी वनडे में कीवी टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और 23 ओवर में 4 विकेट पर 131 रन बनाए। जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 23 ओवर में 9 विकेट पर 99 रन ही बना सकी और डकवर्थ लुइस नियम के हिसाब से 66 रनों से मैच हार गई। न्यूजीलैंड की जीत के हीरो रहे तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट और मिचेल सैंटनर। बोल्ट ने 18 रन देकर 3 विकेट लिए जबकि सैंटनर ने 15 रन देकर 3 बल्लेबाजों को पैवेलियन की राह दिखाई।

बोल्ट-हेनरी का कहर

क्राइस्टचर्च की मुश्किल पिच पर ट्रेंट बोल्ट और मैट हेनरी की रफ्तार और स्विंग के आगे विंडीज बल्लेबाजों की एक नहीं चली। इन दोनों गेंदबाजों ने 4 ओवर के अंदर वेस्टइंडीज के टॉप 5 बल्लेबाजों को पैवेलियन भेज दिया। वेस्टइंडीज ने अपने पहले 5 विकेट सिर्फ 9 रन पर गंवा दिए। हेनरी ने गेल और कायल होप को आउट किया तो वहीं बोल्ट ने चैड्रिक वॉल्टन, शे होप और जेसन मोहम्मद को आउट किया।

मुश्किल में फंसी वेस्टइंडीज की टीम को कप्तान जेसन होल्डर और रोवमैन पॉवेल ने संभालने की कोशिश की, दोनों स्कोर को 50 रनों के पार ले गए लेकिन 10वें ओवर में सैंटनर ने पॉवेल को 11 रन पर आउट कर वेस्टइंडीज को छठा झटका दिया। इसके बाद एश्ले नर्स और जेसन होल्डर भी सैंटनर का शिकार हो गए और देखते ही देखते वेस्टइंडीज की पारी 99 रन पर सिमट गई।

 

 

न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी

इससे पहले न्यूजीलैंड ने स्कोरबोर्ड पर 131 रन लगाए। कीवी टीम की ओर से रॉस टेलर ने सबसे ज्यादा नाबाद 47 रनों की पारी खेली। कप्तान टॉम लैथम ने भी 37 रनों की पारी खेली। मुश्किल पिच पर अच्छी बल्लेबाजी के लिए रॉस टेलर को मैन ऑफ द मैच मिला, वहीं सीरीज में 3 मैचों में 10 विकेट झटकने वाले ट्रेंट बोल्ट को मैन ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड दिया गया।