जुलाई में खेले गए वनडे विश्व कप फाइनल के बाद हाल ही में हुई टी20 सीरीज के आखिरी मैच तक, न्यूजीलैंड (New Zealand) और इंग्लैंड (England) टीमों ने क्रिकेट फैंस को रोमांच की कमी महसूस नहीं होने दी है। ऐसे में जब दोनों टीमें जल्द ही आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में आमने-सामने आने वाली हैं तो मुकाबला और भी दिलचस्प होगा। 21 नवंबर से शुरू होने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले न्यूजीलैंड टीम के कोच गैरी स्टीड (Gary Stead) ने कहा है कि वो इंग्लैंड के खिलाफ उसी के हथियार का इस्तेमाल करेगी।

स्टीड ने बयान दिया है कि इंग्लैंड के युवा ऑलराउंडर जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) का सामना करने के उनकी टीम में लोकी फर्ग्यूसन (Lockie Ferguson) हैं जो इस कैरेबियन खिलाड़ी को बराबर की टक्कर दे सकते हैं। कीवी कोच ने कहा, “जोफ्रा आर्चर बड़ा खतरा साबित होगा। वो अंतर पैदा करता है लेकिन वो केवल एक ही छोर से गेंदबाजी कर सकता है। और हमारे स्क्वाड में भी कोई है जो उसी गति से गेंदबाजी करता है- लोकी फर्ग्यूसन। इस तरह बराबरी से उनका मुकाबला करना दिलचस्प होगा।”

खिलाड़ियों ही नहीं अंपायरों के लिए भी चुनौतीपूर्ण होगा डे-नाइट टेस्ट: साइमन टॉफेल

न्यूजीलैंड के लिए 36 वनडे और 8 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके फर्ग्यूसन ने अब तक क्रिकेट से सबसे पुराने और बड़े फॉर्मेट में कदम नहीं रखा है। स्टीड के बयान के मुताबिक इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में ये तेज गेंदबाज अपना टेस्ट डेब्यू कर सकता है।

उन्होंने कहा, “ये रोमांचक है कि किसी ना किसी स्तर पर उसके लिए डेब्यू का मौका है। मुझे लगता है कि कि ये स्क्वाड के संतुलन के लिए अच्छा है कि हमारे पास पांच तेज गेंदबाज है जो कुछ ना कुछ अलग करते हैं।”

धड़ाधड़ बिके भारत-बांग्‍लादेश डे-नाइट टेस्‍ट के टिकट

आर्चर के बारे में स्टीड ने कहा, “ऐसा सुना है कि आर्चर ने वॉन्गेरी में तेज गेंदबाजी की है। जब भी वो गेंदबाजी करती है, वो आक्रामकता के साथ गेंदबाजी करता है इसलिए मुझे नहीं लगता कि इससे अब किसी को भी आश्चर्य होगा। वो एक विश्वस्तरीय खिलाड़ी है और उसने एशेज में दहाड़ के साथ शुरुआत की। हमारे लिए बात उसकी अतिरिक्त गति के हिसाब से खुद को ढालने और फिर उसका मुकाला कर लगातर रन बनाते रहने की है।”

दो मैचों की इस सीरीज का पहला मैच गुरुवार से बे ओवल, माउंट मानुगुनई में खेला जाएगा। मैच से पहले कोच ने कहा, “इंग्लैंड अच्छी टेस्ट टीम है। उनके पास कुछ विश्वस्तरीय खिलाड़ी हैं। हमें पूरी सीरीज में अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाना होगा।”