भारत के खिलाफ ऑकलैंड के ईडन पार्क मैदान पर खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच के दौरान चोटिल खिलाड़ियों से परेशान न्यूजीलैंड को अपने असिस्टेंट कोच ल्यूक रोंची को फील्डिंग के लिए उतरना पड़ा।

न्यूजीलैंड टीम के खिलाड़ी इस समय चोटों से जूझ रही हैं। यहां तक कि टीम के कप्तान केन विलियमसन भी कंधे की चोट के कारण टीम से बाहर हैं। जिस कारण भारत के खिलाफ टी20 सीरीज के आखिरी दो मैचों में टिम साउदी कप्तान करते नजर आए थे और अब वनडे सीरीज के लिए विकेटकीपर टॉम लेथम को कप्तान बनाया गया है।

इसलीए टीम के असिस्टेंट कोच रोंकी को मैदान पर उतरना पड़ा। वो 37वें ओवर में टीम की जर्सी पहन कर मैदान पर आए। वैसे मिशेल सैंटनर या स्कॉट कुग्गेलेइजिन को मैदान पर चोटिल खिलाड़ी की जगह सब्स्टीट्यूट के तौर पर उतरना था लेकिन दोनों बुखार से पीड़ित थे, इसलिए रोंकी को जर्सी पहनी पड़ी।

हालांकि खिलाड़ियों की कमी के बावजूद न्यूजीलैंड़ टीम तीन मैचों की वनडे सीरीज में भारत पर 2-0 की अजेय बढ़त लेने में सफल रही है।

पहले भी हो चुका है ऐसा

बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब किसी टीम के कोचिंग स्टाफ को मैदान पर फील्डिंग करने उतरना पड़ा हो। साल 2019 में हुए विश्व कप के दौरान इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए वार्म अप मैच के दौरान मेजबान टीम के दो खिलाड़ियों- मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर के चोटिल होने की स्थिति में 42 साल के सहायक कोच पॉल कॉलिंगवुड को फील्डिंग के लिए मैदान पर उतरना पड़ा था जो कि वुड की जर्सी पहनकर मैदान पर आए थे।