रॉस टेलर, मार्टिन गप्टिल की अर्धशतकीय पारियों के दम पर न्यूजीलैंड ने भारत के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में 273/8 रन का स्कोर बनाया। गप्टिल ने न्यूजीलैंड को अच्छी शुरुआत दिलाई लेकिन बीच के ओवरों में युजवेंद्र चहल की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत ने वापसी की।

हालांकि आखिरी ओवर में टेलर ने डेब्यू मैच खेल रहे काइल जेमीसन के साथ मिलकर आक्रामक बल्लेबाजी की और न्यूजीलैंड को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। टेलर ने 74 गेंदो पर 6 चौकों और 2 छक्कों की मदद से नाबाद 73 रन बनाए। वहीं जेमीसन ने भी 24 गेंदो पर 2 छक्कों और एक चौके के साथ 24 रनों की पारी खेली।

भारतीय टीम की ओर से चहल के सर्वाधिक तीन विकेट लिए। इस रिस्ट स्पिनर ने 10 ओवर में 58 रन देकर तीन सफलताएं हासिल की। वहीं शार्दुल ठाकुर ने दो और रवींद्र जडेजा ने एक विकेट लिया। जडेजा और शार्दुल ने एक-एक रन आउट भी किया।

गप्टिल-निकोलस की शानदार शुरुआत

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम को हैनरी निकोलस और मार्टिन गप्टिल ने ठोस शुरुआत दिलाई। निकोलस-गप्टिल की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 93 रन की शानदार साझेदारी बनाई। जब दोनों बल्लेबाजों के क्रीज पर थे तो लग रहा था कि न्यूजीलैंड एक बड़े स्कोर तक जाएगी लेकिन 17वें ओवर में निकोलस को एलबीडब्ल्यू आउट तक चहल ने भारत को पहली सफलता दिलाई। जिसके बाद न्यूजीलैंड का खराब समय शुरु हो गया।

भारतीय गेंदबाजों ने की वापसी

निकोलस (59 गेंद- 41 रन) के आउट होने के बाद कीवी टीम कोई और बड़ी साझेदारी नहीं बना सकी। हालांकि गप्टिल एक छोर से लगे रहे। न्यूजीलैंड को दूसरा झटका 27वें ओवर में लगा, जब टॉम ब्लंडेल (25 गेंद- 22 रन) ठाकुर की गेंद पर कैच आउट हुए। जिसके बाद 30वें ओवर में ठाकुर के शानदार थ्रो की मदद से भारत ने सेट बल्लेबाज गप्टिल को रन आउट कर पवेलियन भेजा।

गप्टिल ने 79 गेंदो पर 8 चौकों और तीन छक्कों के दम पर 79 रन पारी खेली। उनके आउट होने के बाद मेजबान टीम का बल्लेबाजी क्रम बिखर गया। 16 रन अंदर न्यूजीलैंड ने चार बल्लेबाजों के विकेट खो दिए लेकिन टेलर ने एक छोर से पारी  संभालने रखी।

डेथ ओवर में टेलर का धमाल

आखिरी ओवरों में टेलर ने रन रेट तेजी से बढ़ाया और कई खूबसूरत शॉट लगाए। दूसरे छोर पर जेमीसन ने भी उनका बखूबी साथ दिया। दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर नौवें विकेट के लिए 76 रन की साझेदारी बनाई। जिसके दम पर न्यूजीलैंड 273 रन के स्कोर तक पहुंच सका।