भारत के युवा अंपायर नितिन मेनन को इंग्लैंड के नाइजेल लोंग की जगह 2020-21 सत्र के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के अंपायरों की एलीट पैनल में शामिल किया गया है.

36 साल के मेनन को 3 टेस्ट, 24 एकदिवसीय और 16 टी20 अंतरराष्ट्रीय में अंपायरिंग का अनुभव है. वह इस सूची में जगह बनाने वाले पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन और सुंदरम रवि के बाद तीसरे भारतीय हैं. रवि को पिछले साल इससे बाहर कर दिया गया था.

आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ एलरडाइस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरियों रंजन मदुगले एवं डेविड बून की चयन समिति ने मेनन का चुनाव किया. मेनन इससे पहले अंपायरों के एमिरेट्स आईसीसी अंतरराष्ट्रीय पैनल का हिस्सा थे.

‘दुनिया के प्रमुख अंपायरों और रेफरियों के साथ काम करने का सपना रहा’

आईसीसी से जारी बयान में मेनन ने कहा, ‘एलीट पैनल में नाम होना मेरे लिए बहुत सम्मान और गर्व की बात है. दुनिया के प्रमुख अंपायरों और रेफरियों के साथ-साथ नियमित रूप से काम करने का मेरा हमेशा से सपना रहा है. टेस्ट, वनडे और टी-20 मैचों के अलावा आईसीसी टूर्नामेंट्स में अंपायरिंग करने के बाद, मैं जानता हूं कि इस पद के साथ कितनी जिम्मेदारी आती है. मैं आने वाली चुनौतियों और अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार हूं. मुझे साथ ही लगता है कि यह मेरे ऊपर भारतीय अंपायरों को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है. मैं इसके लिए मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ, बीसीसीआई और आईसीसी का शुक्रिया अदा करता हूं.’