No pressure as only 1.5 billion people expecting India to win World Cup says Hardik Pandya
Virat Kohli and Hardik Pandya@IANS

भारतीय क्रिकेट टीम पर अपेक्षाओं का भारी बोझ है लेकिन ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने यह कहकर उसे कम करने की कोशिश की कि ‘संभवत: केवल डेढ़ अरब लोग ही’ उनसे विश्व कप जीतने की उम्मीद लगाए हुए हैं।

भारत के विश्व कप अभियान में पांड्या सबसे बड़े खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। हार्दिक ने आईसीसी द्वारा जारी किए गए वीडियो में कहा, ‘‘किसी तरह का दबाव नहीं है क्योंकि केवल एक अरब 50 करोड़ लोग ही उम्मीद लगाए हुए हैं, इसलिए कोई दबाव नहीं है।’’

पढ़ें:- ‘विश्व कप में पाकिस्तान पर भारत का पलड़ा भारी, कोहली की टीम ही जीतेगी’

इस 25 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि उनका एकमात्र लक्ष्य विश्व कप जीतना है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं चाहता हूं कि 14 जुलाई को कप मेरे हाथ में हो। मैं बस इसी के बारे में सोच रहा हूं। यहां तक कि जब मैं इसके बारे में सोचता हूं तब भी मुझे अजीब सी खुशी मिलती है। मेरी योजना बहुत सरल है – विश्व कप जीतना। मैं इसकी उम्मीद कर रहा हूं और मैं खुद से ऐसी आस लगाए हुए हूं।’’

हार्दिक ने कहा, ‘‘भारत की तरफ से खेलना मेरे लिए सब कुछ है। यह मेरी जिंदगी है। मैं ऐसा व्यक्ति हूं जो इस खेल के प्रति प्यार और जुनून से क्रिकेट खेलता हूं। मुझे चुनौतियां पसंद हैं। पिछले साढ़े तीन साल से मैं इसकी तैयारियां कर रहा हूं और अब समय आ गया है।’’

पढ़ें:- बारिश बनी विलेन !! कैसे मिलेगा चैंपियन अगर धुल गया फाइनल

हार्दिक ने याद किया कि विश्व कप 2011 की जीत के बाद उन्होंने कैसे जश्न मनाया था और तब उन्होंने देश की तरफ से खेलने का सपना देखा था। उन्होंने कहा, ‘‘कुछ दिन पहले मेरे एक मित्र ने मुझे एक तस्वीर भेजी थी और पूछा था क्या तुम्हें इसकी याद है, मैंने कहा, ‘हां जरूर।’’

हार्दिक ने कहा, ‘‘उसने भारतीय टीम की विश्व कप 2011 में जीत का जश्न मनाते हुए हमारी तस्वीर खींची थी। हम गली में निकल गए थे क्योंकि वह त्योहार बन गया था। मैंने एक रात में इतने अधिक लोगों को बाहर नहीं देखा था। इससे मैं वास्तव में भावुक हो गया था।’’

पढ़ें:- विश्व कप मैचों के लिए ‘रिजर्व डे’ रखने का विकल्प नहीं: डेव रिचर्डसन

उन्होंने कहा, ‘‘आठ साल बाद मैं विश्व कप 2019 में खेल रहा हूं। यह एक सपना था और टीम के मेरे साथी मेरे भाई जैसे हैं। ’’