Ollie Pope’s finest discovery for England: Former skipper Andrew Strauss
ओली पोप (Twitter)

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने युवा बल्लेबाज ओली पोप को इंग्लैंड की खोज कहा। पोप ने ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन अपनी टीम को संकट से निकाला। स्ट्रॉस ने कहा कि पोप के पास वो तकनीक है जिससे वो किसी भी फॉर्मेट में सफल हो सकते हैं।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड ने अपने चार विकेट 122 रनों पर ही खो दिए थे। यहां से पोप और जोस बटलर ने टीम को संभाला और पहले दिन का खेल खत्म होने तक कोई और झटका नहीं लगने दिया। इंग्लैंड ने पहले दिन का अंत चार विकेट के नुकसान पर 258 रनों के साथ किया।

स्ट्रॉस ने स्काई स्पोर्टस से कहा, “अगर आप उनका प्रथम श्रेणी क्रिकेट में औसत देखेंगे तो ये 57 का है और उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में जो पारी खेली थी उससे साबित कर दिया था कि वो टेस्ट क्रिकेट में अच्छा कर सकते हैं।”

उन्होंने कहा, “वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो तेजी से रन करते हैं लेकिन किसी का ध्यान नहीं जाता। उन्होंने कुछ शानदार शॉट्स भी खेले थे। वह तेज और स्पिन गेंदबाजी दोनों के सामने सहज लगते हैं। इसलिए कोई खास कमजोरी उनके खेल में नहीं है। मुझे लगता है कि वह इंग्लैंड की असल खोज हैं।”

निर्णायक टेस्ट में अर्धशतकीय पारी खेल ओली पोप ने कहा- कंधों से बोझ उतर गया

बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “उन्हें वनडे में मौका मिलना चाहिए, अलग-अलग स्थानों पर। हम जानते हैं कि वह उस तरह के अलग शॉट खेल सकते हैं। लेकिन कुछ समय के लिए मैं उन्हें टेस्ट टीम में ही देखना चाहता हूं और उनको उनकी तकनीक से छेड़छाड़ करते नहीं देखना चाहता।”

उन्होंने कहा, “वो खुद को इंग्लैंड के माहौल में अच्छे से स्थापित कर सकता है। जब आप सहत होते हैं तो चीजें अलग लगती हैं, जब आपको पता है कि आप इस माहौल में ठीक हैं और आप खिलाड़ियों को जानने लगते हैं। जब आप उस स्तर तक पहुंच जाते हैं तब आप लगातार अच्छा प्रदर्शन करने लगते हैं।”