क्रिकेट में मैच फिक्सिंग का जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर निकल गया है. इस बार ये दाग ओमान के क्रिकेटर पर लगा है जिसपर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने कार्रवाई करते हुए 7 साल का बैन लगा दिया है. ओमान के यूसुफ अब्दुलरहीम अल बालुशी पर मैच फिक्स करने की कोशिशों में संलिप्त रहने के लिए क्रिकेट के सभी प्रारूपों से सात साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है.

भारत को 10 विकेट से हराकर न्यूजीलैंड ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में लगाई बड़ी छलांग

बालुशी ने आईसीसी भ्रष्टाचार निरोधक संहिता के उल्लंघन करने के चार आरोपों को स्वीकार किया है. ये सभी आरोप संयुक्त अरब अमीरात में 2019 में खेले गए आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप क्वालीफायर से जुड़े हैं.

आईसीसी के बयान के अनुसार अल बालुशी ने मैचों के परिणाम या प्रगति या किसी अन्य पहलू को फिक्स करने या प्रभावित करने के लिये समझौते या प्रयास का एक पक्ष होने के कारण भ्रष्टाचार निरोधक संहिता के अनुच्छेद 2.1.1 का उल्लंघन किया.

वेलिंगटन में हार के बाद कप्तान विराट कोहली ने बल्लेबाजों को दिया दोष

इसके अलावा उसने अनुच्छेद 2.1.4, अनुच्छेद 2.4.4 और अनुच्छेद 2.4.7 का भी उल्लंघन किया जो भ्रष्ट गतिविधियों से जुड़े हैं. इससे पहले भी कई क्रिकेटरों को मैच फिक्सिंग में संलिप्त पाए जाने के कारण बैन किया जा चुका है.