दोहरा शतक जड़ने के बाद खुशी मनाते रोहित शर्मा © PTI
दोहरा शतक जड़ने के बाद खुशी मनाते रोहित शर्मा © PTI

2 नवंबर 2013, ये वो तारीख है जब रोहित शर्मा के बल्ले से ऐसा तूफान उठा था कि पूरी दुनिया देखती रह गई थी। रोहित शर्मा ने साल 2013 में आज ही के दिन अपने करियर का पहला दोहरा शतक लगाया था। रोहित वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले तीसरे खिलाड़ी थे। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ने भी दोहरे शतक जड़े थे लेकिन रोहित के इस दोहरे शतक ने कई और रिकॉर्ड तोड़ डाले थे।

बैंगलोर में हुई थी छक्कों की बारिश

मैदान था बैंगलोर का चिन्नास्वामी स्टेडियम और विरोधी था ऑस्ट्रेलिया। 7 मैचों की वनडे सीरीज का ये आखिरी मुकाबला था और इसी से सीरीज का विजेता तय होना था। इस मुकाबले में टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करने उतरी और रोहित शर्मा और शिखर धवन ने टीम को जबर्दस्त शुरुआत दी। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 112 रनों की साझेदारी हुई। इस दौरान शिखर धवन ने महज 43 गेंद में अर्धशतक जमाया लेकिन रोहित शर्मा आराम से खेलते रहे। उन्होंने 71 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया।

यकीन मानिए ये तूफान से पहले की शांति थी। धवन के आउट होते ही रोहित शर्मा ने अपनी बल्लेबाजी का गीयर बदला और उन्होंने जल्द ही 114 गेंदों में शतक ठोक दिया। शतक जमाने के बाद रोहित किसी से रुके नहीं रुके और उन्होंने 140 गेंद में 150 रन पूरे किए और फिर अगली 16 गेंद में 50 रन और जमाकर अपने करियर का पहला दोहरा शतक ठोक दिया। रोहित की इस पारी की बदौलत टीम इंडिया ने 383 रन बनाए और उसने 57 रन से जीत हासिल की।

रिटायरमेंट के बाद आशीष नेहरा ने भारतीय क्रिकेट फैंस से मांगा एक वादा...जानिए क्या है वो?
रिटायरमेंट के बाद आशीष नेहरा ने भारतीय क्रिकेट फैंस से मांगा एक वादा...जानिए क्या है वो?

रोहित शर्मा ने अपनी इस पारी में 16 छक्के मारे, ये एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के मारने का रिकॉर्ड है। भारत के लिए सिर्फ एम एस धोनी ने एक पारी में 10 छक्के लगाए हैं। वैसे ए बी डीविलियर्स और क्रिस गेल भी एक पारी में 16-16 छक्के जड़ चुके हैं।