On This Day: Sachin Tendulkar scores maiden hundred, Sir Don Bradman retires from cricket
Sachin Tendulkar first century © ICC

मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने साल 2013 में क्रिकेट को अलविदा किया, लेकिन क्रिकेट के मैदान से आखिरी विदाई लेने से पहले ही वो अपने नाम कुछ ऐसे रिकॉर्ड कर चुके थे जिसे बना पाना मौजूदा खिलाड़ियों के लिए दूर की कौड़ी नजर आता है। महज 16 साल की उम्र में पाकिस्‍तान के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत करने वाले सचिन तेंदुलकर अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक बना चुके हैं।

विराट कोहली को पछाड़ शोएब मलिक ने बनाया टी-20 का बड़ा रिकॉर्ड
विराट कोहली को पछाड़ शोएब मलिक ने बनाया टी-20 का बड़ा रिकॉर्ड

सचिन और सर डॉन ब्रैडमैन के लिए 14 अगस्‍त बेहद स्‍पेशल

आज ही के दिन सचिन तेंदुलकर ने साल 1990 में अपने करियर का पहला शतक बनाया था। इसके बाद शतकों का सिलसिला ऐसा शुरू हुआ कि वो शतकों के शतक के बाद ही जाकर थमा। ये दिन केवल सचिन तेंदुलकर के लिए ही खास नहीं है, बल्कि क्रिकेट के महानतम खिलाड़ी रहे सर डॉन ब्रैडमैन के लिए भी खास है। 14 अगस्‍त के दिन ही सर डॉन ब्रैडमैन ने क्रिकेट को अलविदा किया था। हालांकि वो दिन 14 अगस्‍त 1948 था। सर डॉन ब्रैडमैन  ने 52 टेस्‍ट मैच खेले जिसमें 99.94 की औसत से रन बनाए। आज तक कोई भी खिलाड़ी सर डॉन ब्रैडमैन के इस रिकॉर्ड के करीब नहीं पहुंच पाया है।

सचिन के शतक जड़ टीम को मुश्किल स्थिति से निकाला था बाहर

14 अगस्‍त 1990 को आज ही दिन दिन सचिन ने उस वक्‍त शतक लगाया जब टीम को सबसे ज्‍यादा इसकी जरूरत थी। दरअसल, मोहम्‍मद अजहरुद्दीन की कप्‍तानी में इंग्‍लैंड के ओल्ड ट्रैफर्ड में भारतीय टीम खेलने उतरी। इंग्‍लैंड ने पहली पारी में 519 रन बनाए तो जवाब में सचिन के 68 रन और अजहरुद्दीन की 179 रनों की पारी की मदद से भारत ने 432 रन बनाए।

इंग्‍लैंड ने दूसरी इनिंग में 320/4 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर दी। भारत को जीत के लिए 408 रनों की दरकार थी, लेकिन आधी टीम 127 रन पर ही ढेर हो गई। जिसके बाद सचिन तेंदुलकर ने 17 चौकों की मदद से अपने करियर का पहला शतक जमाया। जिसके कारण भारत इस मैच को ड्रा करा पाने में सफल रहा।